Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Oct 2022 · 1 min read

सुनती नहीं तुम

कुछ दिल की कहूं तो सुनती नहीं तुम
इज़हार -ए-इश्क़ करूं तो सुनती नहीं तुम
गम-ए-किस्सा बताऊं तो सुनती नहीं तुम
जब खामोश हो जाऊं मैं तो निहारती हो तुम

कुछ बोल नहीं रहें हो फिर बोलती हो तुम
क्या सोच रहें हो फिर पूछतीं हो तुम
कोई बात है क्या करीब आकर धीरे से कहती हो तुम
कुछ परेशानी है मलीन स्वरों में पूछतीं हो तुम

फिर भी कुछ नहीं बोलता मैं तो
“कुछ तो बोलों” बोलती हो तुम
फिर बहुत गौर से देखती हो तुम
और फिर गुमसुम सी बैठ जाती हो तुम

कुछ पल बाद जज्बातों को समझ जाती हो तुम
फिर मुस्कूराकर I Love ❤️ You बोल देती हो तुम

Language: Hindi
340 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from शिव प्रताप लोधी
View all
You may also like:
शादी शुदा कुंवारा (हास्य व्यंग)
शादी शुदा कुंवारा (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
* भीतर से रंगीन, शिष्टता ऊपर से पर लादी【हिंदी गजल/ गीति
* भीतर से रंगीन, शिष्टता ऊपर से पर लादी【हिंदी गजल/ गीति
Ravi Prakash
हरा न पाये दौड़कर,
हरा न पाये दौड़कर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
2671.*पूर्णिका*
2671.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
गणतंत्र दिवस
गणतंत्र दिवस
विजय कुमार अग्रवाल
अभी बाकी है
अभी बाकी है
Vandna Thakur
गुजरते लम्हों से कुछ पल तुम्हारे लिए चुरा लिए हमने,
गुजरते लम्हों से कुछ पल तुम्हारे लिए चुरा लिए हमने,
Hanuman Ramawat
कुछ बातें मन में रहने दो।
कुछ बातें मन में रहने दो।
surenderpal vaidya
बसंत आने पर क्या
बसंत आने पर क्या
Surinder blackpen
रिश्तों में वक्त नहीं है
रिश्तों में वक्त नहीं है
पूर्वार्थ
Dr Arun Kumar Shastri
Dr Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मुझे दर्द सहने की आदत हुई है।
मुझे दर्द सहने की आदत हुई है।
Taj Mohammad
क्षितिज के उस पार
क्षितिज के उस पार
Suryakant Dwivedi
चंद अशआर
चंद अशआर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
गीत-14-15
गीत-14-15
Dr. Sunita Singh
■ जयंती पर नमन्
■ जयंती पर नमन्
*Author प्रणय प्रभात*
राजनीति
राजनीति
Bodhisatva kastooriya
भूलकर चांद को
भूलकर चांद को
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
श्रीराम अयोध्या में पुनर्स्थापित हो रहे हैं, क्या खोई हुई मर
श्रीराम अयोध्या में पुनर्स्थापित हो रहे हैं, क्या खोई हुई मर
Sanjay ' शून्य'
तेरा-मेरा साथ, जीवन भर का...
तेरा-मेरा साथ, जीवन भर का...
Sunil Suman
निशानी
निशानी
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
तौलकर बोलना औरों को
तौलकर बोलना औरों को
DrLakshman Jha Parimal
पल भर कि मुलाकात
पल भर कि मुलाकात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*मैं* प्यार के सरोवर मे पतवार हो गया।
*मैं* प्यार के सरोवर मे पतवार हो गया।
Anil chobisa
शिक्षार्थी को एक संदेश🕊️🙏
शिक्षार्थी को एक संदेश🕊️🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Dad's Tales of Yore
Dad's Tales of Yore
Natasha Stephen
आजादी
आजादी
नूरफातिमा खातून नूरी
मानवता का शत्रु आतंकवाद हैं
मानवता का शत्रु आतंकवाद हैं
Raju Gajbhiye
सीख
सीख
Adha Deshwal
हमें प्यार ऐसे कभी तुम जताना
हमें प्यार ऐसे कभी तुम जताना
Dr fauzia Naseem shad
Loading...