Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Apr 2024 · 1 min read

सियासत

सियासत
अब झूठ, फ़रेब
मक्कारी का पर्याय हो गई है
भूखे पेट का ज़िक्र नहीं
थाली और हाथ में क्या है
ये चर्चा की बात हो रही है
बात बेरोजगारी, बदहाली को
मिटाने की नहीं
विपक्ष को निपटाने की हो रही है
विडम्बना है,
जो सर्वज्ञ है, सार्वभौम और सनातन है
उसे हाथ से पकड़ लाने की
बेतुकी, बात हो रही है
आख़िरी मौक़ा है
देशवासियों के लिए
जीत, अहंकार की कपट और छल की
या लोकतंत्र और ज़न मन गण की होगी

हिमांशु Kulshrestha

41 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
4. गुलिस्तान
4. गुलिस्तान
Rajeev Dutta
तेरा एहसास
तेरा एहसास
Dr fauzia Naseem shad
Bikhari yado ke panno ki
Bikhari yado ke panno ki
Sakshi Tripathi
SC/ST HELPLINE NUMBER 14566
SC/ST HELPLINE NUMBER 14566
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
मधुशाला में लोग मदहोश नजर क्यों आते हैं
मधुशाला में लोग मदहोश नजर क्यों आते हैं
कवि दीपक बवेजा
फितरत अमिट जन एक गहना🌷🌷
फितरत अमिट जन एक गहना🌷🌷
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*** मेरे सायकल की सवार....! ***
*** मेरे सायकल की सवार....! ***
VEDANTA PATEL
रामचरितमानस
रामचरितमानस
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
मुझे छूकर मौत करीब से गुजरी है...
मुझे छूकर मौत करीब से गुजरी है...
राहुल रायकवार जज़्बाती
कुछ इस लिए भी आज वो मुझ पर बरस पड़ा
कुछ इस लिए भी आज वो मुझ पर बरस पड़ा
Aadarsh Dubey
सत्यता और शुचिता पूर्वक अपने कर्तव्यों तथा दायित्वों का निर्
सत्यता और शुचिता पूर्वक अपने कर्तव्यों तथा दायित्वों का निर्
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
तुम्हीं  से  मेरी   जिंदगानी  रहेगी।
तुम्हीं से मेरी जिंदगानी रहेगी।
Rituraj shivem verma
जनता हर पल बेचैन
जनता हर पल बेचैन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
परमपिता तेरी जय हो !
परमपिता तेरी जय हो !
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
सांझ सुहानी मोती गार्डन की
सांझ सुहानी मोती गार्डन की
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
सबका भला कहां करती हैं ये बारिशें
सबका भला कहां करती हैं ये बारिशें
Abhinay Krishna Prajapati-.-(kavyash)
सुरक्षा
सुरक्षा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सावन और स्वार्थी शाकाहारी भक्त
सावन और स्वार्थी शाकाहारी भक्त
Dr MusafiR BaithA
इसका क्या सबूत है, तू साथ सदा मेरा देगी
इसका क्या सबूत है, तू साथ सदा मेरा देगी
gurudeenverma198
पापा की तो बस यही परिभाषा हैं
पापा की तो बस यही परिभाषा हैं
Dr Manju Saini
"प्यार का रोग"
Pushpraj Anant
संविधान का पालन
संविधान का पालन
विजय कुमार अग्रवाल
विपक्ष जो बांटे
विपक्ष जो बांटे
*Author प्रणय प्रभात*
-- नसीहत --
-- नसीहत --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
हम भी जिंदगी भर उम्मीदों के साए में चलें,
हम भी जिंदगी भर उम्मीदों के साए में चलें,
manjula chauhan
मैं पीपल का पेड़
मैं पीपल का पेड़
VINOD CHAUHAN
इंसान को,
इंसान को,
नेताम आर सी
"बँटवारा"
Dr. Kishan tandon kranti
রাধা মানে ভালোবাসা
রাধা মানে ভালোবাসা
Arghyadeep Chakraborty
तेरे शब्दों के हर गूंज से, जीवन ख़ुशबू देता है…
तेरे शब्दों के हर गूंज से, जीवन ख़ुशबू देता है…
Anand Kumar
Loading...