Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Apr 2024 · 1 min read

सियासत कमतर नहीं शतरंज के खेल से ,

सियासत कमतर नहीं शतरंज के खेल से ,
शय और मात तो दोनों में होती है ।
फर्क है तो बस इतना की एक में नेक नियति ,
और दूसरे में बेईमानी शामिल होती है ।

1 Like · 46 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from ओनिका सेतिया 'अनु '
View all
You may also like:
अपनी सोच का शब्द मत दो
अपनी सोच का शब्द मत दो
Mamta Singh Devaa
*मुर्गा की बलि*
*मुर्गा की बलि*
Dushyant Kumar
शीर्षक -  आप और हम जीवन के सच
शीर्षक - आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
वाणी वह अस्त्र है जो आपको जीवन में उन्नति देने व अवनति देने
वाणी वह अस्त्र है जो आपको जीवन में उन्नति देने व अवनति देने
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
अनिल कुमार
लड़की की जिंदगी/ कन्या भूर्ण हत्या
लड़की की जिंदगी/ कन्या भूर्ण हत्या
Raazzz Kumar (Reyansh)
ख़ता हुई थी
ख़ता हुई थी
हिमांशु Kulshrestha
*सर्दी (बाल कविता)*
*सर्दी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
त्योहार का आनंद
त्योहार का आनंद
Dr. Pradeep Kumar Sharma
तेरे संग बिताया हर मौसम याद है मुझे
तेरे संग बिताया हर मौसम याद है मुझे
Amulyaa Ratan
खत पढ़कर तू अपने वतन का
खत पढ़कर तू अपने वतन का
gurudeenverma198
अरदास मेरी वो
अरदास मेरी वो
Mamta Rani
शमशान की राख देखकर मन में एक खयाल आया
शमशान की राख देखकर मन में एक खयाल आया
शेखर सिंह
जनता हर पल बेचैन
जनता हर पल बेचैन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
3212.*पूर्णिका*
3212.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हर खुशी
हर खुशी
Dr fauzia Naseem shad
The Misfit...
The Misfit...
R. H. SRIDEVI
*अज्ञानी की कलम  *शूल_पर_गीत*
*अज्ञानी की कलम *शूल_पर_गीत*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
■ आज का चिंतन...
■ आज का चिंतन...
*प्रणय प्रभात*
हम पर कष्ट भारी आ गए
हम पर कष्ट भारी आ गए
Shivkumar Bilagrami
नए साल की मुबारक
नए साल की मुबारक
भरत कुमार सोलंकी
भले ही भारतीय मानवता पार्टी हमने बनाया है और इसका संस्थापक स
भले ही भारतीय मानवता पार्टी हमने बनाया है और इसका संस्थापक स
Dr. Man Mohan Krishna
"घर बनाने के लिए"
Dr. Kishan tandon kranti
किया पोषित जिन्होंने, प्रेम का वरदान देकर,
किया पोषित जिन्होंने, प्रेम का वरदान देकर,
Ravi Yadav
नियोजित शिक्षक का भविष्य
नियोजित शिक्षक का भविष्य
साहिल
कीमती
कीमती
Naushaba Suriya
सांसों से आईने पर क्या लिखते हो।
सांसों से आईने पर क्या लिखते हो।
Taj Mohammad
चार दिन की ज़िंदगी
चार दिन की ज़िंदगी
कार्तिक नितिन शर्मा
तारो की चमक ही चाँद की खूबसूरती बढ़ाती है,
तारो की चमक ही चाँद की खूबसूरती बढ़ाती है,
Ranjeet kumar patre
अच्छाई बनाम बुराई :- [ अच्छाई का फल ]
अच्छाई बनाम बुराई :- [ अच्छाई का फल ]
Surya Barman
Loading...