Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jul 2023 · 1 min read

#शेर

#शेर
■ तिरंगे के नाम, जवानों का सलाम।।

1 Like · 184 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मेरी खुशी वह लौटा दो मुझको
मेरी खुशी वह लौटा दो मुझको
gurudeenverma198
जीत जुनून से तय होती है।
जीत जुनून से तय होती है।
Rj Anand Prajapati
ग़ज़ल __
ग़ज़ल __ "है हकीकत देखने में , वो बहुत नादान है,"
Neelofar Khan
मित्रता के मूल्यों को ना पहचान सके
मित्रता के मूल्यों को ना पहचान सके
DrLakshman Jha Parimal
सब बिकाऊ है
सब बिकाऊ है
Dr Mukesh 'Aseemit'
-आगे ही है बढ़ना
-आगे ही है बढ़ना
Seema gupta,Alwar
जीवन एक मैराथन है ।
जीवन एक मैराथन है ।
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
दोस्ती में लोग एक दूसरे की जी जान से मदद करते हैं
दोस्ती में लोग एक दूसरे की जी जान से मदद करते हैं
ruby kumari
कम से कम..
कम से कम..
हिमांशु Kulshrestha
तपन ने सबको छुआ है / गर्मी का नवगीत
तपन ने सबको छुआ है / गर्मी का नवगीत
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सितारे अपने आजकल गर्दिश में चल रहे है
सितारे अपने आजकल गर्दिश में चल रहे है
shabina. Naaz
मां
मां
Dr. Pradeep Kumar Sharma
2316.पूर्णिका
2316.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
Diwakar Mahto
बीमारी से सब बचें, हों सब लोग निरोग (कुंडलिया )
बीमारी से सब बचें, हों सब लोग निरोग (कुंडलिया )
Ravi Prakash
आखिर कब तक?
आखिर कब तक?
Pratibha Pandey
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हिन्दी पढ़ लो -'प्यासा'
हिन्दी पढ़ लो -'प्यासा'
Vijay kumar Pandey
हक़ीक़त
हक़ीक़त
Shyam Sundar Subramanian
#चिंतन
#चिंतन
*प्रणय प्रभात*
जगे युवा-उर तब ही बदले दुश्चिंतनमयरूप ह्रास का
जगे युवा-उर तब ही बदले दुश्चिंतनमयरूप ह्रास का
Pt. Brajesh Kumar Nayak
विगुल क्रांति का फूँककर, टूटे बनकर गाज़ ।
विगुल क्रांति का फूँककर, टूटे बनकर गाज़ ।
जगदीश शर्मा सहज
तू  मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
तू मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
कृष्णकांत गुर्जर
प्रेम के मायने
प्रेम के मायने
Awadhesh Singh
नम आंखों से ओझल होते देखी किरण सुबह की
नम आंखों से ओझल होते देखी किरण सुबह की
Abhinesh Sharma
"बात पते की"
Dr. Kishan tandon kranti
जब तात तेरा कहलाया था
जब तात तेरा कहलाया था
Akash Yadav
मैं एक पल हूँ
मैं एक पल हूँ
Swami Ganganiya
उलझी हुई है जुल्फ
उलझी हुई है जुल्फ
SHAMA PARVEEN
दोहे- शक्ति
दोहे- शक्ति
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...