Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings
Aug 28, 2016 · 1 min read

शर्त है

इश्क हो ऐसा की कुछ खास होना चाहिये
शर्त है दिल से कुछ एहसास होना चाहिये
********************************
जिंदगी बन सकती आपकी भी ख़ुशनुमा
शर्त है हर रोज़ बस मधुमास होना चाहिये
********************************
कपिल कुमार
28/08/2016

136 Views
You may also like:
"बदलाव की बयार"
Ajit Kumar "Karn"
घनाक्षरी छंद
शेख़ जाफ़र खान
मजदूरों का जीवन।
Anamika Singh
वरिष्ठ गीतकार स्व.शिवकुमार अर्चन को समर्पित श्रद्धांजलि नवगीत
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अपना ख़्याल
Dr fauzia Naseem shad
रात तन्हा सी
Dr fauzia Naseem shad
माखन चोर
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
नर्मदा के घाट पर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
एक दुआ हो
Dr fauzia Naseem shad
पिता
Satpallm1978 Chauhan
अपनी नज़र में खुद अच्छा
Dr fauzia Naseem shad
माँ
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
आंखों पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
गीत
शेख़ जाफ़र खान
दिलों से नफ़रतें सारी
Dr fauzia Naseem shad
फूल और कली के बीच का संवाद (हास्य व्यंग्य)
Anamika Singh
ख़्वाब सारे तो
Dr fauzia Naseem shad
आह! भूख और गरीबी
Dr fauzia Naseem shad
हमारी सभ्यता
Anamika Singh
# पिता ...
Chinta netam " मन "
गुलामी के पदचिन्ह
मनोज कर्ण
प्रेम में त्याग
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हम सब एक है।
Anamika Singh
हवा का हुक़्म / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जो आया है इस जग में वह जाएगा।
Anamika Singh
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सो गया है आदमी
कुमार अविनाश केसर
चंदा मामा बाल कविता
Ram Krishan Rastogi
मृगतृष्णा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...