Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jan 2024 · 1 min read

शराब हो या इश्क़ हो बहकाना काम है

शराब हो या इश्क़ हो बहकाना काम है
आशिकों का इश्क़ में मर जाना काम है
दोनों पे अख्तियार हो के कम ही जरा चढ़े
संभल के हर हाल में घर जाना काम है
-सिद्धार्थ गोरखपुरी

146 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
👍
👍
*Author प्रणय प्रभात*
💐प्रेम कौतुक-551💐
💐प्रेम कौतुक-551💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*
*"रोटी"*
Shashi kala vyas
नेता की रैली
नेता की रैली
Punam Pande
ముందుకు సాగిపో..
ముందుకు సాగిపో..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
*पल्लव काव्य मंच द्वारा कवि सम्मेलन, पुस्तकों का लोकार्पण तथ
*पल्लव काव्य मंच द्वारा कवि सम्मेलन, पुस्तकों का लोकार्पण तथ
Ravi Prakash
जिंदगी
जिंदगी
Neeraj Agarwal
खोते जा रहे हैं ।
खोते जा रहे हैं ।
Dr.sima
हर लम्हे में
हर लम्हे में
Sangeeta Beniwal
माँ
माँ
SHAMA PARVEEN
षड्यंत्रों की कमी नहीं है
षड्यंत्रों की कमी नहीं है
Suryakant Dwivedi
अगर आप में व्यर्थ का अहंकार है परन्तु इंसानियत नहीं है; तो म
अगर आप में व्यर्थ का अहंकार है परन्तु इंसानियत नहीं है; तो म
विमला महरिया मौज
विकल्प
विकल्प
Dr.Priya Soni Khare
🙏 गुरु चरणों की धूल🙏
🙏 गुरु चरणों की धूल🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
"सूनी मांग" पार्ट-2
Radhakishan R. Mundhra
What if...
What if...
Sridevi Sridhar
"सियासत में"
Dr. Kishan tandon kranti
किरणों का कोई रंग नहीं होता
किरणों का कोई रंग नहीं होता
Atul "Krishn"
धैर्य वह सम्पत्ति है जो जितनी अधिक आपके पास होगी आप उतने ही
धैर्य वह सम्पत्ति है जो जितनी अधिक आपके पास होगी आप उतने ही
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
छठ पूजा
छठ पूजा
Satish Srijan
संवेदना का सौंदर्य छटा 🙏
संवेदना का सौंदर्य छटा 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
तू सहारा बन
तू सहारा बन
Bodhisatva kastooriya
हम तो मतदान करेंगे...!
हम तो मतदान करेंगे...!
मनोज कर्ण
……..नाच उठी एकाकी काया
……..नाच उठी एकाकी काया
Rekha Drolia
न जमीन रखता हूँ न आसमान रखता हूँ
न जमीन रखता हूँ न आसमान रखता हूँ
VINOD CHAUHAN
2405.पूर्णिका
2405.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेरे दिल ने देखो ये क्या कमाल कर दिया
मेरे दिल ने देखो ये क्या कमाल कर दिया
shabina. Naaz
कितना खाली खालीपन है !
कितना खाली खालीपन है !
Saraswati Bajpai
जिसकी जिससे है छनती,
जिसकी जिससे है छनती,
महेश चन्द्र त्रिपाठी
You know ,
You know ,
Sakshi Tripathi
Loading...