Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Feb 2024 · 1 min read

वेलेंटाइन डे आशिकों का नवरात्र है उनको सारे डे रोज, प्रपोज,च

वेलेंटाइन डे आशिकों का नवरात्र है उनको सारे डे रोज, प्रपोज,चॉकलेट, प्रोमिस,,किस, मिस ब्रेकअप सब याद है।

लेकिन उनसे यदि यह पूछ लिया जाए कि राष्ट्रीय पराक्रम दिवस कब मनाया है तो वे मौन धारण कर लेंगे।
RJ Anand Prajapati

52 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्रेम अटूट है
प्रेम अटूट है
Dr. Kishan tandon kranti
अपनी समस्या का समाधान_
अपनी समस्या का समाधान_
Rajesh vyas
बिना काविश तो कोई भी खुशी आने से रही। ख्वाहिश ए नफ़्स कभी आगे बढ़ाने से रही। ❤️ ख्वाहिशें लज्ज़त ए दीदार जवां है अब तक। उस से मिलने की तमन्ना तो ज़माने से रही। ❤️
बिना काविश तो कोई भी खुशी आने से रही। ख्वाहिश ए नफ़्स कभी आगे बढ़ाने से रही। ❤️ ख्वाहिशें लज्ज़त ए दीदार जवां है अब तक। उस से मिलने की तमन्ना तो ज़माने से रही। ❤️
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
एक पीर उठी थी मन में, फिर भी मैं चीख ना पाया ।
एक पीर उठी थी मन में, फिर भी मैं चीख ना पाया ।
आचार्य वृन्दान्त
वीर बालिका
वीर बालिका
लक्ष्मी सिंह
कहने को तो इस जहां में अपने सब हैं ,
कहने को तो इस जहां में अपने सब हैं ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
कविता ही तो परंम सत्य से, रूबरू हमें कराती है
कविता ही तो परंम सत्य से, रूबरू हमें कराती है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Radiance
Radiance
Dhriti Mishra
ग़ज़ल/नज़्म - शाम का ये आसमांँ आज कुछ धुंधलाया है
ग़ज़ल/नज़्म - शाम का ये आसमांँ आज कुछ धुंधलाया है
अनिल कुमार
** सावन चला आया **
** सावन चला आया **
surenderpal vaidya
खुद पर यकीन,
खुद पर यकीन,
manjula chauhan
दर्द
दर्द
Bodhisatva kastooriya
पुनर्जन्म का सत्याधार
पुनर्जन्म का सत्याधार
Shyam Sundar Subramanian
जिंदगी सभी के लिए एक खुली रंगीन किताब है
जिंदगी सभी के लिए एक खुली रंगीन किताब है
Rituraj shivem verma
रणक्षेत्र बना अब, युवा उबाल
रणक्षेत्र बना अब, युवा उबाल
प्रेमदास वसु सुरेखा
चांद पे हमको
चांद पे हमको
Dr fauzia Naseem shad
सपनो का सफर संघर्ष लाता है तभी सफलता का आनंद देता है।
सपनो का सफर संघर्ष लाता है तभी सफलता का आनंद देता है।
पूर्वार्थ
कौन सोचता है
कौन सोचता है
Surinder blackpen
#जी_का_जंजाल
#जी_का_जंजाल
*Author प्रणय प्रभात*
होली पर बरसात हो , बरसें ऐसे रंग (कुंडलिया)*
होली पर बरसात हो , बरसें ऐसे रंग (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
है एक डोर
है एक डोर
Ranjana Verma
कारगिल दिवस पर
कारगिल दिवस पर
Harminder Kaur
मेरा लड्डू गोपाल
मेरा लड्डू गोपाल
MEENU
!! दिल के कोने में !!
!! दिल के कोने में !!
Chunnu Lal Gupta
लंगोटिया यारी
लंगोटिया यारी
Sandeep Pande
मंजिले तड़प रहीं, मिलने को ए सिपाही
मंजिले तड़प रहीं, मिलने को ए सिपाही
Er.Navaneet R Shandily
पिता का पेंसन
पिता का पेंसन
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
3087.*पूर्णिका*
3087.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
यादों का बसेरा है
यादों का बसेरा है
Shriyansh Gupta
कर पुस्तक से मित्रता,
कर पुस्तक से मित्रता,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...