Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 1, 2022 · 1 min read

विश्व हास्य दिवस

नाम डर का ह्रदय से मिटा दीजिये
ज़ख़्म की आप हँसकर दवा कीजिये
ज़िन्दगी के लिये बस किसी भी तरह
मुस्कुराहट को अपनी बचा लीजिये

01-05-2022
डॉ अर्चना गुप्ता

3 Likes · 6 Comments · 116 Views
You may also like:
शहीद भारत यदुवंशी को मेरा नमन
Surabhi bharati
धरती की फरियाद
Anamika Singh
*पार्क में योग (कहानी)*
Ravi Prakash
मेरे गाँव का अश्वमेध!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
The Buddha And His Path
Buddha Prakash
=*तुम अन्न-दाता हो*=
Prabhudayal Raniwal
एक वीरांगना का अन्त !
Prabhudayal Raniwal
“ गलत प्रयोग से “ अग्निपथ “ नहीं बनता बल्कि...
DrLakshman Jha Parimal
शैशव की लयबद्ध तरंगे
Rashmi Sanjay
शायरी ने बर्बाद कर दिया |
Dheerendra Panchal
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग ५]
Anamika Singh
पुस्तक समीक्षा *तुम्हारे नेह के बल से (काव्य संग्रह)*
Ravi Prakash
✍️मेरी कलम...✍️
"अशांत" शेखर
अरविंद सवैया छन्द।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
Love song
श्याम सिंह बिष्ट
यादों की भूलभुलैया में
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
" tyranny of oppression "
DESH RAJ
फिजूल।
Taj Mohammad
मुसाफिर चलते रहना है
Rashmi Sanjay
मैं तुम पर क्या छन्द लिखूँ?
रोहिणी नन्दन मिश्र
*संस्मरण : श्री गुरु जी*
Ravi Prakash
लड्डू का भोग
Buddha Prakash
जीवन
Mahendra Narayan
💐 देह दलन 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*स्मृति डॉ. उर्मिलेश*
Ravi Prakash
युद्ध आह्वान
Aditya Prakash
【20】 ** भाई - भाई का प्यार खो गया **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
** तक़दीर की रेखाएँ **
Dr. Alpa H. Amin
✍️बुनियाद✍️
"अशांत" शेखर
न झुकेगे हम
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...