Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Mar 2024 · 1 min read

विकल्प

न सिया विलाप से, न जटायु युद्ध से।
मंदोदरी के प्रेम न माल्यवान प्रबुद्ध से।।

न तो लंका दहन से, न पुत्र के हनन से।
पुत्र के सलाह से, न भाई विभीषण से।।

परिजनों के वाद से, न अंगद संवाद से।
यश कीर्ति ही बनी थी, धर्म के विवाद से।।

न परिजनों के नाश से, न विश्व के उपहास से।
है कौन रोक सकता, उसको भला विनाश से।।

वेद शास्त्र ज्ञान पर, लोभ दंभ काम छा गया।
धर्म की मर्यादा हेतु, अयोध्या का राम आगया।।

ऐसे मन मन्तव्यों का, ‘संजय’ इलाज बस वध है।
अहंकार सिर चढ़ जाए, तो विकल्प बस युद्ध है।।

जै सियाराम

1 Like · 64 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दबी जुबान में क्यों बोलते हो?
दबी जुबान में क्यों बोलते हो?
Manoj Mahato
Labour day
Labour day
अंजनीत निज्जर
हमने भी ज़िंदगी को
हमने भी ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
साधु की दो बातें
साधु की दो बातें
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
आज अचानक फिर वही,
आज अचानक फिर वही,
sushil sarna
2712.*पूर्णिका*
2712.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
डॉ. नामवर सिंह की आलोचना के अन्तर्विरोध
डॉ. नामवर सिंह की आलोचना के अन्तर्विरोध
कवि रमेशराज
I would never force anyone to choose me
I would never force anyone to choose me
पूर्वार्थ
यह 🤦😥😭दुःखी संसार🌐🌏🌎🗺️
यह 🤦😥😭दुःखी संसार🌐🌏🌎🗺️
डॉ० रोहित कौशिक
दे ऐसी स्वर हमें मैया
दे ऐसी स्वर हमें मैया
Basant Bhagawan Roy
खामोशी : काश इसे भी पढ़ लेता....!
खामोशी : काश इसे भी पढ़ लेता....!
VEDANTA PATEL
जीभर न मिलीं रोटियाँ, हमको तो दो जून
जीभर न मिलीं रोटियाँ, हमको तो दो जून
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
होली आई रे
होली आई रे
Mukesh Kumar Sonkar
नहीं भुला पाएंगे मां तुमको, जब तक तन में प्राण
नहीं भुला पाएंगे मां तुमको, जब तक तन में प्राण
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हम हो जायेंगें दूर तूझसे,
हम हो जायेंगें दूर तूझसे,
$úDhÁ MãÚ₹Yá
* हाथ मलने लगा *
* हाथ मलने लगा *
surenderpal vaidya
गोविंदा श्याम गोपाला
गोविंदा श्याम गोपाला
Bodhisatva kastooriya
★Dr.MS Swaminathan ★
★Dr.MS Swaminathan ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
नर नारी संवाद
नर नारी संवाद
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जिसनै खोया होगा
जिसनै खोया होगा
MSW Sunil SainiCENA
लिये मनुज अवतार प्रकट हुये हरि जेलों में।
लिये मनुज अवतार प्रकट हुये हरि जेलों में।
कार्तिक नितिन शर्मा
हृदय के राम
हृदय के राम
इंजी. संजय श्रीवास्तव
*तलवार है तुम्हारे हाथ में हे देवी माता (घनाक्षरी: सिंह विलो
*तलवार है तुम्हारे हाथ में हे देवी माता (घनाक्षरी: सिंह विलो
Ravi Prakash
"वो दिन"
Dr. Kishan tandon kranti
आप कोई नेता नहीं नहीं कोई अभिनेता हैं ! मनमोहक अभिनेत्री तो
आप कोई नेता नहीं नहीं कोई अभिनेता हैं ! मनमोहक अभिनेत्री तो
DrLakshman Jha Parimal
ये दिल न जाने क्या चाहता है...
ये दिल न जाने क्या चाहता है...
parvez khan
Monday Morning!
Monday Morning!
R. H. SRIDEVI
मुश्किल हालात हैं
मुश्किल हालात हैं
शेखर सिंह
■ सुबह की सलाह।
■ सुबह की सलाह।
*प्रणय प्रभात*
Loading...