Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Dec 2023 · 1 min read

नव वर्ष हैप्पी वाला

वही सूर्य ग्रह चंद सितारे,
वही धरा व गगन।
ईश्वर का गुणगान करो,
मस्ती में रहो मगन।

साँसों की करो चौकीदारी,
खर्च करो न फिजूल।
या इस जग में स्वार्थ कमाओ,
या फिर खोजो मूल।

कहाँ से आये कहाँ है जाना,
कभी कभी करो याद।
मानव जन्म सफल हो कैसे,
हरि से कर फरियाद।

चलो मान ले नव वर्ष आया,
सबके मन है हर्ष।
आगे ऐसी रहनी धारो,
प्रति दिन हो उत्कर्ष।

झूठ मूठ का हल्ला गुल्ला,
हैप्पी है न्यू ईयर।
यदि कुछ मन वृत्ति बदले,
तब खुश होना डियर।

कितनी उत्तम चैत्र प्रतिपदा,
नवदुर्गा घर आती।
नये वर्ष में भक्ति का वर
देवी मां दे जाती।

ईसवी सन को सब कुछ माना,
नववर्ष इसी को जाना।
अपना सब कुछ भूला सृजन,
सतगुर जग बौराना।

काटो केक डांस करो जम के,
बाहों में खूब झूलो।
ईसवी से एतराज न कोई,
पर अपना न भूलो।

-सतीश सृजन

Language: Hindi
179 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Satish Srijan
View all
You may also like:
नज़्म/गीत - वो मधुशाला, अब कहाँ
नज़्म/गीत - वो मधुशाला, अब कहाँ
अनिल कुमार
कैसे हो हम शामिल, तुम्हारी महफ़िल में
कैसे हो हम शामिल, तुम्हारी महफ़िल में
gurudeenverma198
मेरी …….
मेरी …….
Sangeeta Beniwal
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
राजनीति अब धुत्त पड़ी है (नवगीत)
राजनीति अब धुत्त पड़ी है (नवगीत)
Rakmish Sultanpuri
अधरों ने की  दिल्लगी, अधरों  से  कल  रात ।
अधरों ने की दिल्लगी, अधरों से कल रात ।
sushil sarna
आप जरा सा समझिए साहब
आप जरा सा समझिए साहब
शेखर सिंह
"टी शर्ट"
Dr Meenu Poonia
Bhut khilliya udwa  li khud ki gairo se ,
Bhut khilliya udwa li khud ki gairo se ,
Sakshi Tripathi
मीलों की नहीं, जन्मों की दूरियां हैं, तेरे मेरे बीच।
मीलों की नहीं, जन्मों की दूरियां हैं, तेरे मेरे बीच।
Manisha Manjari
हर शेर हर ग़ज़ल पे है ऐसी छाप तेरी - संदीप ठाकुर
हर शेर हर ग़ज़ल पे है ऐसी छाप तेरी - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
संस्कारी बड़ी - बड़ी बातें करना अच्छी बात है, इनको जीवन में
संस्कारी बड़ी - बड़ी बातें करना अच्छी बात है, इनको जीवन में
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
कुछ याद बन
कुछ याद बन
Dr fauzia Naseem shad
बदलती फितरत
बदलती फितरत
Sûrëkhâ Rãthí
"असलियत"
Dr. Kishan tandon kranti
धरा प्रकृति माता का रूप
धरा प्रकृति माता का रूप
Buddha Prakash
*महान आध्यात्मिक विभूति मौलाना यूसुफ इस्लाही से दो मुलाकातें*
*महान आध्यात्मिक विभूति मौलाना यूसुफ इस्लाही से दो मुलाकातें*
Ravi Prakash
मारे ऊँची धाक,कहे मैं पंडित ऊँँचा
मारे ऊँची धाक,कहे मैं पंडित ऊँँचा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
■ आज का विचार
■ आज का विचार
*Author प्रणय प्रभात*
प्रार्थना
प्रार्थना
Dr.Pratibha Prakash
ऐसा तूफान उत्पन्न हुआ कि लो मैं फँस गई,
ऐसा तूफान उत्पन्न हुआ कि लो मैं फँस गई,
Sukoon
फिक्र (एक सवाल)
फिक्र (एक सवाल)
umesh mehra
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – भातृ वध – 05
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – भातृ वध – 05
Kirti Aphale
ओढ़े जुबां झूठे लफ्जों की।
ओढ़े जुबां झूठे लफ्जों की।
Rj Anand Prajapati
💐प्रेम कौतुक-510💐
💐प्रेम कौतुक-510💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
I am not born,
I am not born,
Ankita Patel
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
Writer_ermkumar
सर्वप्रथम पिया से रँग लगवाउंगी
सर्वप्रथम पिया से रँग लगवाउंगी
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
राधा की भक्ति
राधा की भक्ति
Dr. Upasana Pandey
"मनुज बलि नहीं होत है - होत समय बलवान ! भिल्लन लूटी गोपिका - वही अर्जुन वही बाण ! "
Atul "Krishn"
Loading...