Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 May 2024 · 1 min read

वफ़ा का इनाम तेरे प्यार की तोहफ़े में है,

वफ़ा का इनाम तेरे प्यार की तोहफ़े में है,
तुम्हारे बिना जीने की सोचे सपने बुरे हैं

©️ डॉ. शशांक शर्मा “रईस”

36 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सीने का समंदर, अब क्या बताऊ तुम्हें
सीने का समंदर, अब क्या बताऊ तुम्हें
The_dk_poetry
गाडगे पुण्यतिथि
गाडगे पुण्यतिथि
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
3361.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3361.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
*ज़िंदगी का सफर*
*ज़िंदगी का सफर*
sudhir kumar
चुन्नी सरकी लाज की,
चुन्नी सरकी लाज की,
sushil sarna
सही ट्रैक क्या है ?
सही ट्रैक क्या है ?
Sunil Maheshwari
कुछ नहीं.......!
कुछ नहीं.......!
विमला महरिया मौज
श्री श्याम भजन 【लैला को भूल जाएंगे】
श्री श्याम भजन 【लैला को भूल जाएंगे】
Khaimsingh Saini
सखि आया वसंत
सखि आया वसंत
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
ख़ून इंसानियत का
ख़ून इंसानियत का
Dr fauzia Naseem shad
पधारे दिव्य रघुनंदन, चले आओ चले आओ।
पधारे दिव्य रघुनंदन, चले आओ चले आओ।
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
"परमात्मा"
Dr. Kishan tandon kranti
उजियारी ऋतुओं में भरती
उजियारी ऋतुओं में भरती
Rashmi Sanjay
जो गुजर रही हैं दिल पर मेरे उसे जुबान पर ला कर क्या करू
जो गुजर रही हैं दिल पर मेरे उसे जुबान पर ला कर क्या करू
Rituraj shivem verma
ग्रीष्म ऋतु --
ग्रीष्म ऋतु --
Seema Garg
पहले साहब परेशान थे कि हिन्दू खतरे मे है
पहले साहब परेशान थे कि हिन्दू खतरे मे है
शेखर सिंह
स्वयं से सवाल
स्वयं से सवाल
Rajesh
इम्तिहान
इम्तिहान
AJAY AMITABH SUMAN
होली (विरह)
होली (विरह)
लक्ष्मी सिंह
कहाँ चल दिये तुम, अकेला छोड़कर
कहाँ चल दिये तुम, अकेला छोड़कर
gurudeenverma198
दुर्गा माँ
दुर्गा माँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
अष्टम कन्या पूजन करें,
अष्टम कन्या पूजन करें,
Neelam Sharma
लड़कियों को विजेता इसलिए घोषित कर देना क्योंकि वह बहुत खूबसू
लड़कियों को विजेता इसलिए घोषित कर देना क्योंकि वह बहुत खूबसू
Rj Anand Prajapati
महामहिम राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू जी
महामहिम राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू जी
Seema gupta,Alwar
🙅अमोघ-मंत्र🙅
🙅अमोघ-मंत्र🙅
*प्रणय प्रभात*
* प्यार का जश्न *
* प्यार का जश्न *
surenderpal vaidya
“बदलते भारत की तस्वीर”
“बदलते भारत की तस्वीर”
पंकज कुमार कर्ण
नफरतों के जहां में मोहब्बत के फूल उगाकर तो देखो
नफरतों के जहां में मोहब्बत के फूल उगाकर तो देखो
VINOD CHAUHAN
मेरा वतन
मेरा वतन
Pushpa Tiwari
ज्ञान का अर्थ
ज्ञान का अर्थ
ओंकार मिश्र
Loading...