Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Nov 2023 · 1 min read

रुके ज़माना अगर यहां तो सच छुपना होगा।

रुके ज़माना अगर यहां तो सच छुपना होगा।
दर्द लेकर भी मोहब्बत का मुस्कुराना होगा ।
ज़माना छीन ले आखिरी ख्वाहिश मौहब्बत की।
तो बस नाम मेरा रब का गुनगुनाना होगा ।।

Phool gufran

1 Like · 164 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
राजतंत्र क ठगबंधन!
राजतंत्र क ठगबंधन!
Bodhisatva kastooriya
शेर अर्ज किया है
शेर अर्ज किया है
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
Patience and determination, like a rock, is the key to their hearts' lock.
Patience and determination, like a rock, is the key to their hearts' lock.
Manisha Manjari
कृष्ण जन्म
कृष्ण जन्म
लक्ष्मी सिंह
खरीद लो दुनिया के सारे ऐशो आराम
खरीद लो दुनिया के सारे ऐशो आराम
Ranjeet kumar patre
वृक्ष बड़े उपकारी होते हैं,
वृक्ष बड़े उपकारी होते हैं,
अनूप अम्बर
*लॉकडाउन (लघु कथा)*
*लॉकडाउन (लघु कथा)*
Ravi Prakash
होली
होली
Dr. Kishan Karigar
श्रीराम वन में
श्रीराम वन में
नवीन जोशी 'नवल'
मिले
मिले
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
एकता
एकता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
खेल करे पैसा मिले,
खेल करे पैसा मिले,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
3215.*पूर्णिका*
3215.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
एक विद्यार्थी जब एक लड़की के तरफ आकर्षित हो जाता है बजाय कित
एक विद्यार्थी जब एक लड़की के तरफ आकर्षित हो जाता है बजाय कित
Rj Anand Prajapati
कौन गया किसको पता ,
कौन गया किसको पता ,
sushil sarna
ज़िंदगी की उलझन;
ज़िंदगी की उलझन;
शोभा कुमारी
तितली थी मैं
तितली थी मैं
Saraswati Bajpai
इंतजार युग बीत रहा
इंतजार युग बीत रहा
Sandeep Pande
रावण का परामर्श
रावण का परामर्श
Dr. Harvinder Singh Bakshi
मोर मुकुट संग होली
मोर मुकुट संग होली
Dinesh Kumar Gangwar
लम्हों की तितलियाँ
लम्हों की तितलियाँ
Karishma Shah
कुछ समय पहले
कुछ समय पहले
Shakil Alam
मातु शारदे वंदना
मातु शारदे वंदना
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
स्त्रियां पुरुषों से क्या चाहती हैं?
स्त्रियां पुरुषों से क्या चाहती हैं?
अभिषेक किसनराव रेठे
*देना इतना आसान नहीं है*
*देना इतना आसान नहीं है*
Seema Verma
ओ माँ मेरी लाज रखो
ओ माँ मेरी लाज रखो
Basant Bhagawan Roy
ताजमहल
ताजमहल
Satish Srijan
प्रकृति
प्रकृति
Sûrëkhâ Rãthí
"कोई तो है"
Dr. Kishan tandon kranti
■ आत्मावलोकन।
■ आत्मावलोकन।
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...