Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 May 2023 · 1 min read

रास्ते फूँक -फूँककर चलता है

रास्ते फूँक -फूँककर चलता है
जो ठोकर खाकर सँभलता है।
a m prahari

1 Like · 139 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Anil Mishra Prahari
View all
You may also like:
लाइफ का कोई रिमोट नहीं होता
लाइफ का कोई रिमोट नहीं होता
शेखर सिंह
■ आज की बात...
■ आज की बात...
*Author प्रणय प्रभात*
***होली के व्यंजन***
***होली के व्यंजन***
Kavita Chouhan
सुबह को सुबह
सुबह को सुबह
rajeev ranjan
जब तुम्हारे भीतर सुख के लिए जगह नही होती है तो
जब तुम्हारे भीतर सुख के लिए जगह नही होती है तो
Aarti sirsat
मोहब्बत
मोहब्बत
अखिलेश 'अखिल'
आज वो भी भारत माता की जय बोलेंगे,
आज वो भी भारत माता की जय बोलेंगे,
Minakshi
प्रेम की राह।
प्रेम की राह।
लक्ष्मी सिंह
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
Mahender Singh
" मुशाफिर हूँ "
Pushpraj Anant
यह ज़मीं है सबका बसेरा
यह ज़मीं है सबका बसेरा
gurudeenverma198
उनकी तोहमत हैं, मैं उनका ऐतबार नहीं हूं।
उनकी तोहमत हैं, मैं उनका ऐतबार नहीं हूं।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
बुंदेली दोहे-फदाली
बुंदेली दोहे-फदाली
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
हमें सूरज की तरह चमकना है, सब लोगों के दिलों में रहना है,
हमें सूरज की तरह चमकना है, सब लोगों के दिलों में रहना है,
DrLakshman Jha Parimal
बसंत
बसंत
manjula chauhan
इम्तहान ना ले मेरी मोहब्बत का,
इम्तहान ना ले मेरी मोहब्बत का,
Radha jha
अमर काव्य
अमर काव्य
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कविता
कविता
Rambali Mishra
आर-पार की साँसें
आर-पार की साँसें
Dr. Sunita Singh
"याद आती है"
Dr. Kishan tandon kranti
संस्कार
संस्कार
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
सावन‌ आया
सावन‌ आया
Neeraj Agarwal
एहसास
एहसास
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Wo veer purta jo rote nhi
Wo veer purta jo rote nhi
Sakshi Tripathi
सभी धर्म महान
सभी धर्म महान
RAKESH RAKESH
23/21.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/21.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
प्यार का तेरा सौदा हुआ।
प्यार का तेरा सौदा हुआ।
पूर्वार्थ
चुल्लू भर पानी में
चुल्लू भर पानी में
Satish Srijan
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
रोना ना तुम।
रोना ना तुम।
Taj Mohammad
Loading...