Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Aug 2023 · 1 min read

राम कहने से तर जाएगा

राम कहने से तर जाएगा
राम का नाम ले, जीवन तेरा संवर जाएगा।
राम राम जय राजा राम।
राम राम जय सीता राम।।

तीनों लोकों के स्वामी श्री राम रघुनाथ
जिसके सिर पर भी रख देते हैं अपने हाथ
वह तो कष्टो से तर जाएगा, और खुशियों से भर जाएगा।
राम कहने से तर जाएगा
राम का नाम ले, जीवन तेरा संवर जाएगा।
राम राम जय राजा राम
राम राम जय सीताराम।।

हे करुणा निधि मेरे राम सीताराम
जिनकी भक्ति हृदय को है देती आराम
भक्ति से निर्मल हो जाएगा भवसागर उतर जाएगा।
राम कहने से तर जाएगा
राम का नाम ले, जीवन तेरा संवर जाएगा।
राम राम जय राजा राम
राम राम जय सीता राम।।

-राम भक्त विष्णु प्रसाद ‘पाँचोटिया’

Language: Hindi
170 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बहुत अहमियत होती है लोगों की
बहुत अहमियत होती है लोगों की
शिव प्रताप लोधी
प्यार करता हूं और निभाना चाहता हूं
प्यार करता हूं और निभाना चाहता हूं
Er. Sanjay Shrivastava
जिंदगी की पहेली
जिंदगी की पहेली
RAKESH RAKESH
गुस्सा सातवें आसमान पर था
गुस्सा सातवें आसमान पर था
सिद्धार्थ गोरखपुरी
गले की फांस
गले की फांस
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मैं उनके सँग में यदि रहता नहीं
मैं उनके सँग में यदि रहता नहीं
gurudeenverma198
अदाकारी
अदाकारी
Suryakant Dwivedi
2360.पूर्णिका
2360.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"यादें"
Dr. Kishan tandon kranti
💐प्रेम कौतुक-331💐
💐प्रेम कौतुक-331💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
तुम जो हमको छोड़ चले,
तुम जो हमको छोड़ चले,
कृष्णकांत गुर्जर
चुनौतियाँ बहुत आयी है,
चुनौतियाँ बहुत आयी है,
Dr. Man Mohan Krishna
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
■ आज का विचार
■ आज का विचार
*Author प्रणय प्रभात*
हे कलम
हे कलम
Kavita Chouhan
मुझ को किसी एक विषय में मत बांधिए
मुझ को किसी एक विषय में मत बांधिए
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
"जून की शीतलता"
Dr Meenu Poonia
*प्रेमचंद (पॉंच दोहे)*
*प्रेमचंद (पॉंच दोहे)*
Ravi Prakash
दिल दिया था जिसको हमने दीवानी समझ कर,
दिल दिया था जिसको हमने दीवानी समझ कर,
Vishal babu (vishu)
There is no shortcut through the forest of life if there is
There is no shortcut through the forest of life if there is
सतीश पाण्डेय
शुभ् कामना मंगलकामनाएं
शुभ् कामना मंगलकामनाएं
Mahender Singh
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
बढ़ चुकी दुश्वारियों से
बढ़ चुकी दुश्वारियों से
Rashmi Sanjay
गांव की याद
गांव की याद
Punam Pande
"साफ़गोई" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
दुख
दुख
Rekha Drolia
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...