Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Mar 2023 · 1 min read

“रामनवमी पर्व 2023”

महिमा उनकी धन्य है, धन्य उनन कै काज,
सुनत सबन की रामजी, काल्हि कोउ, कोउ आज।

उनहीं की माया सबहिं, सिगरे रीति-रिवाज,
मारग सबकै भिन्न हैं, बिखरे लगत समाज।

उन बिन ना पत्ता हिलै, ना कोउ क्रिया कलाप,
किन्तु जानकी हरण पै, मनु सम कीन्हि विलाप।

रामजनम नवमी अमर, सब जग कै सरताज,
विनय करत कर जोरि हौँ, रखियो हमरी लाज।

बल, विवेक, वर देहु मोहि, करहु कृपा रघुनाथ,
अधमाई, बिसराहु अब, बरनत “आशादास”।

Language: Hindi
13 Likes · 23 Comments · 418 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
View all
You may also like:
बदल गए तुम
बदल गए तुम
Kumar Anu Ojha
मनहरण घनाक्षरी
मनहरण घनाक्षरी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
स्त्री रहने दो
स्त्री रहने दो
Arti Bhadauria
ये जो तेरे बिना भी, तुझसे इश्क़ करने की आदत है।
ये जो तेरे बिना भी, तुझसे इश्क़ करने की आदत है।
Manisha Manjari
24)”मुस्करा दो”
24)”मुस्करा दो”
Sapna Arora
मेरे दिल के खूं से, तुमने मांग सजाई है
मेरे दिल के खूं से, तुमने मांग सजाई है
gurudeenverma198
"विजेता"
Dr. Kishan tandon kranti
रामपुर का किला : जिसके दरवाजों के किवाड़ हमने कभी बंद होते नहीं देखे*
रामपुर का किला : जिसके दरवाजों के किवाड़ हमने कभी बंद होते नहीं देखे*
Ravi Prakash
सजल...छंद शैलजा
सजल...छंद शैलजा
डॉ.सीमा अग्रवाल
लोग आपके प्रसंसक है ये आपकी योग्यता है
लोग आपके प्रसंसक है ये आपकी योग्यता है
Ranjeet kumar patre
আমি তোমাকে ভালোবাসি
আমি তোমাকে ভালোবাসি
Otteri Selvakumar
*20वे पुण्य-स्मृति दिवस पर पूज्य पिता जी के श्रीचरणों में श्
*20वे पुण्य-स्मृति दिवस पर पूज्य पिता जी के श्रीचरणों में श्
*Author प्रणय प्रभात*
गोरे तन पर गर्व न करियो (भजन)
गोरे तन पर गर्व न करियो (भजन)
Khaimsingh Saini
सुना है सकपने सच होते हैं-कविता
सुना है सकपने सच होते हैं-कविता
Shyam Pandey
सिलसिला
सिलसिला
Ramswaroop Dinkar
हाथ की लकीरों में फ़क़ीरी लिखी है वो कहते थे हमें
हाथ की लकीरों में फ़क़ीरी लिखी है वो कहते थे हमें
VINOD CHAUHAN
श्रीराम गिलहरी संवाद अष्टपदी
श्रीराम गिलहरी संवाद अष्टपदी
SHAILESH MOHAN
? ,,,,,,,,?
? ,,,,,,,,?
शेखर सिंह
- एक दिन उनको मेरा प्यार जरूर याद आएगा -
- एक दिन उनको मेरा प्यार जरूर याद आएगा -
bharat gehlot
कैसी-कैसी हसरत पाले बैठे हैं
कैसी-कैसी हसरत पाले बैठे हैं
विनोद सिल्ला
गुफ्तगू
गुफ्तगू
Naushaba Suriya
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
॥ संकटमोचन हनुमानाष्टक ॥
॥ संकटमोचन हनुमानाष्टक ॥
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
जब एक ज़िंदगी है
जब एक ज़िंदगी है
Dr fauzia Naseem shad
तुम्हारा एक दिन..…........एक सोच
तुम्हारा एक दिन..…........एक सोच
Neeraj Agarwal
कभी किसी को इतनी अहमियत ना दो।
कभी किसी को इतनी अहमियत ना दो।
Annu Gurjar
प्रकृति और तुम
प्रकृति और तुम
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
नारी का अस्तित्व
नारी का अस्तित्व
रेखा कापसे
बिटिया !
बिटिया !
Sangeeta Beniwal
Loading...