Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 May 2023 · 1 min read

राजनैतिक गिरावट

राजनैतिक गिरावट

राजनीति आज बिलकुल बेशर्म हो गई,
सत्ता प्राप्ति ही एकमात्र धर्म हो गई।

देश सेवा तो बस नारों की ही बात है,
हर क्षण धन कमाने की ही घात है।

राजनेता इतिहास नया अब लिखने लगे हैं,
खुलम-खुला बेशर्मी से बिकने लगे हैं।

सत्ता पाना सेवा नहीं इनका धंधा हो गया,
सत्ता प्राप्ति का खेल कितना गंदा हो गया।

पतन हो गया राजनीति का संशय नहीं है,
नैतिकता जैसे राजनीति का विषय नहीं है।

वेलफ़ेयर स्टेट अपना गुण-धर्म छोड़ रही है,
देश में स्वायत संस्थाएँ दम तोड़ रही हैं।

1 Like · 10 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
यक्ष प्रश्न
यक्ष प्रश्न
Shyam Sundar Subramanian
आँखों में ख्व़ाब होना , होता बुरा नहीं।।
आँखों में ख्व़ाब होना , होता बुरा नहीं।।
Godambari Negi
हमारा प्यारा गणतंत्र दिवस
हमारा प्यारा गणतंत्र दिवस
Ram Krishan Rastogi
हिम्मत और महब्बत एक दूसरे की ताक़त है
हिम्मत और महब्बत एक दूसरे की ताक़त है
SADEEM NAAZMOIN
चांदनी की बरसात के साये में चलते
चांदनी की बरसात के साये में चलते
Dr. Rajiv
इंक़लाब आएगा
इंक़लाब आएगा
Shekhar Chandra Mitra
हवाओं का मिज़ाज जो पहले था वही रहा
हवाओं का मिज़ाज जो पहले था वही रहा
Maroof aalam
बड़ा मुंहफट सा है किरदार हमारा
बड़ा मुंहफट सा है किरदार हमारा
ruby kumari
हर बार मेरी ही किस्मत क्यो धोखा दे जाती हैं,
हर बार मेरी ही किस्मत क्यो धोखा दे जाती हैं,
Vishal babu (vishu)
*अनगिन हुए देश में नेता, अलग मगर थे नेताजी (गीत)*
*अनगिन हुए देश में नेता, अलग मगर थे नेताजी (गीत)*
Ravi Prakash
आहट
आहट
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
अब हम बहुत दूर …
अब हम बहुत दूर …
DrLakshman Jha Parimal
■ यादों का झरोखा...
■ यादों का झरोखा...
*Author प्रणय प्रभात*
अकेले आए हैं ,
अकेले आए हैं ,
Shutisha Rajput
बाजार से सब कुछ मिल जाता है,
बाजार से सब कुछ मिल जाता है,
Shubham Pandey (S P)
चलते-चलते...
चलते-चलते...
डॉ.सीमा अग्रवाल
तेरी परवाह करते हुए ,
तेरी परवाह करते हुए ,
Buddha Prakash
💐प्रेम कौतुक-448💐
💐प्रेम कौतुक-448💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"मुक्तिपथ"
Dr. Kishan tandon kranti
अंधा इश्क
अंधा इश्क
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कुछ समय पहले
कुछ समय पहले
Shakil Alam
उसे देख खिल गयीं थीं कलियांँ
उसे देख खिल गयीं थीं कलियांँ
श्री रमण 'श्रीपद्'
जीवन एक सफर है, इसे अपने अंतिम रुप में सुंदर बनाने का जिम्मे
जीवन एक सफर है, इसे अपने अंतिम रुप में सुंदर बनाने का जिम्मे
Sidhartha Mishra
बगिया
बगिया
Vijay kannauje
*ढूंढ लूँगा सखी*
*ढूंढ लूँगा सखी*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हिज़्र
हिज़्र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
स्टेटस अपडेट देखकर फोन धारक की वैचारिक, व्यवहारिक, मानसिक और
स्टेटस अपडेट देखकर फोन धारक की वैचारिक, व्यवहारिक, मानसिक और
विमला महरिया मौज
नन्हीं - सी प्यारी गौरैया।
नन्हीं - सी प्यारी गौरैया।
Anil Mishra Prahari
🚩 वैराग्य
🚩 वैराग्य
Pt. Brajesh Kumar Nayak
केवल आनंद की अनुभूति ही जीवन का रहस्य नहीं है,बल्कि अनुभवों
केवल आनंद की अनुभूति ही जीवन का रहस्य नहीं है,बल्कि अनुभवों
Aarti Ayachit
Loading...