Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jun 2022 · 1 min read

रहे न अगर आस तो….

रहे न अगर आस तो….

क्या क्षणिक इन आँधियों से,जिंदगी डर जाएगी ?
रहे न अगर आस तो हाँ, प्यास ही मर जाएगी ।

तू बस अपना काम कर,
फल चला खुद आएगा।
तीरगी को चीर, वहीं,
रौशनी रख जाएगा।
मन में शीतल शुद्ध हवा, ताजगी भर जाएगी।
रहे न अगर आस तो हाँ…..

वक्त ठहर गया तो क्या,
समय न अपना तू गँवा।
हौसलों में जान रहे,
पल में होगा दुख हवा।
झोंका सुख का आएगा, किस्मत सँवर जाएगी।
रहे न अगर आस तो हाँ…..

पहुँच न ले गंतव्य तक,
न तब तलक तू साँस ले।
मंजिल निकट आएगी,
मिट जाएँगे फासले।
छूकर मन की भावना, मौत भी तर जाएगी।
रहे न अगर आस तो हाँ……

जिंदगी का सुर्ख सफ़ा,
पल-पल नजरों में रहे।
हार-जीत का फलसफ़ा,
नित-नित साँसों में बहे।
ढील जरा भी दी अगर, चेतना मर जाएगी।
रहे न अगर आस तो हाँ, प्यास ही मर जाएगी।

© सीमा अग्रवाल
जिगर कॉलोनी,
मुरादाबाद ( उ.प्र.)
“सृजन प्रवाह” से

Language: Hindi
Tag: गीत
7 Likes · 8 Comments · 534 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डॉ.सीमा अग्रवाल
View all
You may also like:
कायम रखें उत्साह
कायम रखें उत्साह
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
#justareminderdrarunkumarshastri
#justareminderdrarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*दानवीर व्यापार-शिरोमणि, भामाशाह प्रणाम है (गीत)*
*दानवीर व्यापार-शिरोमणि, भामाशाह प्रणाम है (गीत)*
Ravi Prakash
हैं सितारे डरे-डरे फिर से - संदीप ठाकुर
हैं सितारे डरे-डरे फिर से - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
23/155.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/155.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
💐अज्ञात के प्रति-77💐
💐अज्ञात के प्रति-77💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वार्तालाप
वार्तालाप
Pratibha Pandey
// प्रसन्नता //
// प्रसन्नता //
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
बता ये दर्द
बता ये दर्द
विजय कुमार नामदेव
जीवन है बस आँखों की पूँजी
जीवन है बस आँखों की पूँजी
Suryakant Dwivedi
लगता है आवारगी जाने लगी है अब,
लगता है आवारगी जाने लगी है अब,
Deepesh सहल
STAY SINGLE
STAY SINGLE
Saransh Singh 'Priyam'
अपनी धरती कितनी सुन्दर
अपनी धरती कितनी सुन्दर
Buddha Prakash
खेलों का महत्व
खेलों का महत्व
विजय कुमार अग्रवाल
महफिल में तनहा जले, खूब हुए बदनाम ।
महफिल में तनहा जले, खूब हुए बदनाम ।
sushil sarna
ख़ून इंसानियत का
ख़ून इंसानियत का
Dr fauzia Naseem shad
सृष्टि रचेता
सृष्टि रचेता
RAKESH RAKESH
तुम पलाश मैं फूल तुम्हारा।
तुम पलाश मैं फूल तुम्हारा।
Dr. Seema Varma
राम आधार हैं
राम आधार हैं
Mamta Rani
उसकी दहलीज पर
उसकी दहलीज पर
Satish Srijan
भ्रूणहत्या
भ्रूणहत्या
Dr Parveen Thakur
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
निभाना नही आया
निभाना नही आया
Anil chobisa
हर हर महादेव की गूंज है।
हर हर महादेव की गूंज है।
Neeraj Agarwal
हुस्न और खूबसूरती से भरे हुए बाजार मिलेंगे
हुस्न और खूबसूरती से भरे हुए बाजार मिलेंगे
शेखर सिंह
Pyar ke chappu se , jindagi ka naiya par lagane chale the ha
Pyar ke chappu se , jindagi ka naiya par lagane chale the ha
Sakshi Tripathi
हर पति परमेश्वर नही होता
हर पति परमेश्वर नही होता
Kavita Chouhan
ईश्वर का जाल और मनुष्य
ईश्वर का जाल और मनुष्य
Dr MusafiR BaithA
किन मुश्किलों से गुजरे और गुजर रहे हैं अबतक,
किन मुश्किलों से गुजरे और गुजर रहे हैं अबतक,
सिद्धार्थ गोरखपुरी
दौरे-हजीर चंद पर कलमात🌹🌹🌹🌹🌹🌹
दौरे-हजीर चंद पर कलमात🌹🌹🌹🌹🌹🌹
shabina. Naaz
Loading...