Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Jul 2023 · 1 min read

रक्तदान

रक्तदान

“सर, प्रमोद जी आए हैं रक्तदान करने।” कंपाउंडर ने कहा।
“कौन प्रमोद जी ?” डॉक्टर साहब ने पूछा।
“सर, ये हर साल यहाँ दो बार रक्तदान करने आते हैं।” कंपाउंडर ने बताया।
“ठीक है। भेजो उन्हें।” डॉक्टर ने कहा।
“नमस्ते सर। मैं प्रमोद हूँ। इसी गाँव में रहता हूँ। स्वस्थ आदमी हूँ। लगातार रक्तदान करता रहता हूँ। आज भी इसीलिए आया हूँ।” प्रमोद ने हाथ जोड़कर कहा।
“नमस्कार प्रमोद जी। कंपाउंडर ने मुझे आपके बारे में बता दिया है। अच्छी बात प्रमोद जी। मैंने सुना है कि आप हर साल दो बार रक्तदान करते हैं। कोई खास वजह ? डॉक्टर साहब ने यूँ ही पूछ लिया।
“डॉक्टर साहब, सामान्यतः लोग अपने पसंदीदा बड़े-बड़े नेताओं, अभिनेताओं के जन्मदिन पर रक्तदान करते हैं, पर मैं अपने पिताजी और माताजी, जिनकी बदौलत मैं इस दुनिया में आया हूँ, उनके जन्मदिन पर साल में दो बार रक्तदान करता हूँ। संयोगवश दोनों के जन्मदिन में छह माह का अंतराल है। इससे मेरे रक्तदान में कोई अड़चन नहीं है।” प्रमोद ने कहा।
“वाह ! क्या नेक विचार हैं। काश ! सभी आपकी तरह सोचते।” प्रमोद जी के हाथ में सूई चुभाते हुए डॉक्टर साहब ने कहा।
– डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा
रायपुर, छत्तीसगढ़

Language: Hindi
179 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
■ आस्था के आयाम...
■ आस्था के आयाम...
*Author प्रणय प्रभात*
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
नरक और स्वर्ग
नरक और स्वर्ग
Dr. Pradeep Kumar Sharma
3093.*पूर्णिका*
3093.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
With Grit in your mind
With Grit in your mind
Dhriti Mishra
जब किसी कार्य के लिए कदम आगे बढ़ाने से पूर्व ही आप अपने पक्ष
जब किसी कार्य के लिए कदम आगे बढ़ाने से पूर्व ही आप अपने पक्ष
Paras Nath Jha
बरसों की ज़िंदगी पर
बरसों की ज़िंदगी पर
Dr fauzia Naseem shad
चन्द्रयान पहुँचा वहाँ,
चन्द्रयान पहुँचा वहाँ,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कर ले प्यार
कर ले प्यार
Ashwani Kumar Jaiswal
चुन्नी सरकी लाज की,
चुन्नी सरकी लाज की,
sushil sarna
तन्हाई
तन्हाई
नवीन जोशी 'नवल'
मुश्किल जब सताता संघर्ष बढ़ जाता है🌷🙏
मुश्किल जब सताता संघर्ष बढ़ जाता है🌷🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
https://youtube.com/@pratibhaprkash?si=WX_l35pU19NGJ_TX
https://youtube.com/@pratibhaprkash?si=WX_l35pU19NGJ_TX
Dr.Pratibha Prakash
जल
जल
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
*आया पूरब से अरुण ,पिघला जैसे स्वर्ण (कुंडलिया)*
*आया पूरब से अरुण ,पिघला जैसे स्वर्ण (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
खुद के व्यक्तिगत अस्तित्व को आर्थिक सामाजिक तौर पर मजबूत बना
खुद के व्यक्तिगत अस्तित्व को आर्थिक सामाजिक तौर पर मजबूत बना
पूर्वार्थ
ग़ज़ल - रहते हो
ग़ज़ल - रहते हो
Mahendra Narayan
पश्चिम का सूरज
पश्चिम का सूरज
डॉ० रोहित कौशिक
#कहमुकरी
#कहमुकरी
Suryakant Dwivedi
अब तो आ जाओ सनम
अब तो आ जाओ सनम
Ram Krishan Rastogi
सफर में महोब्बत
सफर में महोब्बत
Anil chobisa
खारिज़ करने के तर्क / मुसाफ़िर बैठा
खारिज़ करने के तर्क / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
ek abodh balak
ek abodh balak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
गीत
गीत
Shiva Awasthi
मंजिलें भी दर्द देती हैं
मंजिलें भी दर्द देती हैं
Dr. Kishan tandon kranti
प्रभु के प्रति रहें कृतज्ञ
प्रभु के प्रति रहें कृतज्ञ
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
* दिल का खाली  गराज है *
* दिल का खाली गराज है *
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मैं हूं कार
मैं हूं कार
Santosh kumar Miri
मज़बूत होने में
मज़बूत होने में
Ranjeet kumar patre
"धन्य प्रीत की रीत.."
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
Loading...