Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Dec 2023 · 1 min read

यूं ही हमारी दोस्ती का सिलसिला रहे।

गज़ल

221/2121/1221/212
यूं ही हमारी दोस्ती का सिलसिला रहे।
हाथों में हाथ हों न हों पर दिल मिला रहे।1

गुलशन की रंग-ओ-खशबू बिखरती रहे सदा,
हर फूल डाली पर यूं ही हरदम खिला रहे।2

उसकी नज़र में एक है दुनियां की सरजमीं,
कोई प्रदेश देश या कोई जिला रहे।3

कितनी भी कोशिशें करें शिकवा कोई न हो,
मुमकिन है फिर भी आपको मुझसे गिला रहे।4

रोके न रोक पाया है कोई भी इश्क को,
प्रेमी अभेद्य चाहे कोई भी किला रहे।5

………✍️ सत्य कुमार प्रेमी

Language: Hindi
1 Comment · 122 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नाम मौहब्बत का लेकर मेरी
नाम मौहब्बत का लेकर मेरी
Phool gufran
मां का आंचल(Happy mothers day)👨‍👩‍👧‍👧
मां का आंचल(Happy mothers day)👨‍👩‍👧‍👧
Ms.Ankit Halke jha
साथ हो एक मगर खूबसूरत तो
साथ हो एक मगर खूबसूरत तो
ओनिका सेतिया 'अनु '
माधव मालती (28 मात्रा ) मापनी युक्त मात्रिक
माधव मालती (28 मात्रा ) मापनी युक्त मात्रिक
Subhash Singhai
दुल्हन जब तुमको मैं, अपनी बनाऊंगा
दुल्हन जब तुमको मैं, अपनी बनाऊंगा
gurudeenverma198
तुम ये उम्मीद मत रखना मुझसे
तुम ये उम्मीद मत रखना मुझसे
Maroof aalam
हिन्दी पर विचार
हिन्दी पर विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आजकल के समाज में, लड़कों के सम्मान को उनकी समझदारी से नहीं,
आजकल के समाज में, लड़कों के सम्मान को उनकी समझदारी से नहीं,
पूर्वार्थ
ज़ख्म सिल दो मेरा
ज़ख्म सिल दो मेरा
Surinder blackpen
जय जय जगदम्बे
जय जय जगदम्बे
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
रिश्तों की मर्यादा
रिश्तों की मर्यादा
Rajni kapoor
कलयुगी की रिश्ते है साहब
कलयुगी की रिश्ते है साहब
Harminder Kaur
SCHOOL..
SCHOOL..
Shubham Pandey (S P)
Being with and believe with, are two pillars of relationships
Being with and believe with, are two pillars of relationships
Sanjay ' शून्य'
नजरअंदाज करने के
नजरअंदाज करने के
Dr Manju Saini
बीज और विचित्रताओं पर कुछ बात
बीज और विचित्रताओं पर कुछ बात
Dr MusafiR BaithA
"मन भी तो पंछी ठहरा"
Dr. Kishan tandon kranti
कोई आदत नहीं
कोई आदत नहीं
Dr fauzia Naseem shad
मन का मिलन है रंगों का मेल
मन का मिलन है रंगों का मेल
Ranjeet kumar patre
मेरा न कृष्ण है न मेरा कोई राम है
मेरा न कृष्ण है न मेरा कोई राम है
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
मुक्तक
मुक्तक
sushil sarna
कतार  (कुंडलिया)
कतार (कुंडलिया)
Ravi Prakash
या तो लाल होगा या उजले में लपेटे जाओगे
या तो लाल होगा या उजले में लपेटे जाओगे
Keshav kishor Kumar
रखें बड़े घर में सदा, मधुर सरल व्यवहार।
रखें बड़े घर में सदा, मधुर सरल व्यवहार।
आर.एस. 'प्रीतम'
मोदी जी
मोदी जी
Shivkumar Bilagrami
वर्षा ऋतु के बाद
वर्षा ऋतु के बाद
लक्ष्मी सिंह
■ आज का मुक्तक
■ आज का मुक्तक
*Author प्रणय प्रभात*
दुनिया को बचाइए
दुनिया को बचाइए
Shekhar Chandra Mitra
मेरे दिल में मोहब्बत आज भी है
मेरे दिल में मोहब्बत आज भी है
कवि दीपक बवेजा
Loading...