Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#15 Trending Author
May 1, 2022 · 1 min read

यादें आती हैं

ये जिंदगी बहुत छोटी हैं
हर लम्हा जी भर जियो….
लौट कर सिर्फ
यादें आती हैं वक़्त नहीं….
– कृष्ण सिंह

3 Likes · 2 Comments · 122 Views
You may also like:
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
धरती से मिलने को बादल जब भी रोने लग गया।
सत्य कुमार प्रेमी
फरिश्ता से
Dr.sima
रिश्तों की डोर
मनोज कर्ण
प्रकृति और कोरोना की कहानी मेरी जुबानी
Anamika Singh
जिंदगी जब भी भ्रम का जाल बिछाती है।
Manisha Manjari
*अमूल्य निधि का मूल्य (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग८]
Anamika Singh
चिड़िया और जाल
DESH RAJ
बदल कर टोपियां अपनी, कहीं भी पहुंच जाते हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
लिट्टी छोला
आकाश महेशपुरी
विश्व पुस्तक दिवस
Rohit yadav
पानी का दर्द
Anamika Singh
तितली रानी (बाल कविता)
Anamika Singh
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
कोमल एहसास प्यार का....
Dr. Alpa H. Amin
शहीद की आत्मा
Anamika Singh
*सुकृति: हैप्पी वर्थ डे* 【बाल कविता 】
Ravi Prakash
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
मैं धरती पर नीर हूं निर्मल, जीवन मैं ही चलाता...
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
If We Are Out Of Any Connecting Language.
Manisha Manjari
गँवईयत अच्छी लगी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
पुस्तक समीक्षा-"तारीखों के बीच" लेखक-'मनु स्वामी'
Rashmi Sanjay
पिता भगवान का अवतार होता है।
Taj Mohammad
✍️तो ऐसा नहीं होता✍️
"अशांत" शेखर
किसी पथ कि , जरुरत नही होती
Ram Ishwar Bharati
हमारे शुभेक्षु पिता
Aditya Prakash
✍️मी परत शुन्य होणार नाही..!✍️
"अशांत" शेखर
देशभक्ति के पर्याय वीर सावरकर
Ravi Prakash
Loading...