Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Dec 2023 · 1 min read

यह अपना रिश्ता कभी होगा नहीं

शीर्षक – यह अपना रिश्ता कभी होगा नहीं
———————————————–
यह अपना रिश्ता, कभी होगा नहीं।
तू किसी और को, अपना साथी बना ले।।
तेरी उम्मीदें मुझसे ,पूरी होगी नहीं।
तू किसी और को, अपना ख्वाब बना ले।।
यह अपना रिश्ता————————।।

कैसे मैं उनको भूला दूँ , जो कल मेरे साथ थे।
कैसे तोड़ दूँ उनसे रिश्ता, जो मेरे प्यारे दोस्त थे।।
ऐसी वफ़ा और यारी, कभी तेरी होगी नहीं,
तू किसी और को, अपनी मंजिल बना लें।।
यह अपना रिश्ता————————-।।

कर्ज उनका है मुझ पर, जन्म जिन्होंने दिया है।
हक उनका है मुझ पर, प्यार जिन्होंने दिया है।।
ऐसी खातिर और इज्जत, तुझसे कभी होगी नहीं।
तू किसी और को, अपना नसीब बना ले।।
यह अपना रिश्ता———————-।।

ख्वाब उनके भी तो, मुझको करने है पूरे।
जिनका कोई घर नहीं, जिनके तन है अधूरे।।
मेरे इस काम में , कभी तुमसे मदद होगी नहीं।
तू किसी और को, अपना हमदर्द बना ले।।
यह अपना रिश्ता———————-।।

शिक्षक एवं साहित्यकार
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
320 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ग़ज़ल - फितरतों का ढेर
ग़ज़ल - फितरतों का ढेर
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
शब्द
शब्द
Sangeeta Beniwal
गाए जा, अरी बुलबुल
गाए जा, अरी बुलबुल
Shekhar Chandra Mitra
5 दोहे- वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई पर केंद्रित
5 दोहे- वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई पर केंद्रित
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
करार दे
करार दे
SHAMA PARVEEN
देवों की भूमि उत्तराखण्ड
देवों की भूमि उत्तराखण्ड
Ritu Asooja
पन्द्रह अगस्त का दिन कहता आजादी अभी अधूरी है ।।
पन्द्रह अगस्त का दिन कहता आजादी अभी अधूरी है ।।
Kailash singh
वक़्त ने हीं दिखा दिए, वक़्त के वो सारे मिज़ाज।
वक़्त ने हीं दिखा दिए, वक़्त के वो सारे मिज़ाज।
Manisha Manjari
!! मन रखिये !!
!! मन रखिये !!
Chunnu Lal Gupta
अर्थ का अनर्थ
अर्थ का अनर्थ
Dr. Pradeep Kumar Sharma
फिदरत
फिदरत
Swami Ganganiya
दवाइयां जब महंगी हो जाती हैं, ग़रीब तब ताबीज पर यकीन करने लग
दवाइयां जब महंगी हो जाती हैं, ग़रीब तब ताबीज पर यकीन करने लग
Jogendar singh
बात तो सच है सौ आने कि साथ नहीं ये जाएगी
बात तो सच है सौ आने कि साथ नहीं ये जाएगी
Shweta Soni
जबसे उनको रकीब माना है।
जबसे उनको रकीब माना है।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
बिन मांगे ही खुदा ने भरपूर दिया है
बिन मांगे ही खुदा ने भरपूर दिया है
हरवंश हृदय
मैं एक फरियाद लिए बैठा हूँ
मैं एक फरियाद लिए बैठा हूँ
Bhupendra Rawat
निगाहों से पूछो
निगाहों से पूछो
Surinder blackpen
राह मे मुसाफिर तो हजार मिलते है!
राह मे मुसाफिर तो हजार मिलते है!
Bodhisatva kastooriya
यह जो आँखों में दिख रहा है
यह जो आँखों में दिख रहा है
कवि दीपक बवेजा
कुत्तज़िन्दगी / Musafir baithA
कुत्तज़िन्दगी / Musafir baithA
Dr MusafiR BaithA
■ मौलिकता का अपना मूल्य है। आयातित में क्या रखा है?
■ मौलिकता का अपना मूल्य है। आयातित में क्या रखा है?
*Author प्रणय प्रभात*
हकीकत उनमें नहीं कुछ
हकीकत उनमें नहीं कुछ
gurudeenverma198
3302.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3302.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
Swami Vivekanand
Swami Vivekanand
Poonam Sharma
❤बिना मतलब के जो बात करते है
❤बिना मतलब के जो बात करते है
Satyaveer vaishnav
*पाते असली शांति वह ,जिनके मन संतोष (कुंडलिया)*
*पाते असली शांति वह ,जिनके मन संतोष (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"तोल के बोल"
Dr. Kishan tandon kranti
What consumes your mind controls your life
What consumes your mind controls your life
पूर्वार्थ
झिलमिल झिलमिल रोशनी का पर्व है
झिलमिल झिलमिल रोशनी का पर्व है
Neeraj Agarwal
फूल मोंगरा
फूल मोंगरा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
Loading...