Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Jun 2023 · 1 min read

यहाँ पर सब की

यहाँ पर सबकी अपनी अना -परस्ती है।
कोई नहीं उतरेगा अब मेयार पर पूरा ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
11 Likes · 288 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
Who Said It Was Simple?
Who Said It Was Simple?
R. H. SRIDEVI
13-छन्न पकैया छन्न पकैया
13-छन्न पकैया छन्न पकैया
Ajay Kumar Vimal
आपकी खुशहाली और अच्छे हालात
आपकी खुशहाली और अच्छे हालात
Paras Nath Jha
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
साहित्य गौरव
घर के मसले | Ghar Ke Masle | मुक्तक
घर के मसले | Ghar Ke Masle | मुक्तक
Damodar Virmal | दामोदर विरमाल
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नन्हे-मुन्ने हाथों में, कागज की नाव ही बचपन था ।
नन्हे-मुन्ने हाथों में, कागज की नाव ही बचपन था ।
Rituraj shivem verma
स्वामी विवेकानंद
स्वामी विवेकानंद
मनोज कर्ण
ये माना तुमने है कैसे तुम्हें मैं भूल जाऊंगा।
ये माना तुमने है कैसे तुम्हें मैं भूल जाऊंगा।
सत्य कुमार प्रेमी
मुक्तक
मुक्तक
डॉक्टर रागिनी
*Perils of Poverty and a Girl child*
*Perils of Poverty and a Girl child*
Poonam Matia
कितनी अजब गजब हैं ज़माने की हसरतें
कितनी अजब गजब हैं ज़माने की हसरतें
Dr. Alpana Suhasini
😢काहे की गुड-मॉर्निंग?😢
😢काहे की गुड-मॉर्निंग?😢
*प्रणय प्रभात*
वर्तमान गठबंधन राजनीति के समीकरण - एक मंथन
वर्तमान गठबंधन राजनीति के समीकरण - एक मंथन
Shyam Sundar Subramanian
राम सीता
राम सीता
Shashi Mahajan
मी ठू ( मैं हूँ ना )
मी ठू ( मैं हूँ ना )
Mahender Singh
जीवन के पल दो चार
जीवन के पल दो चार
Bodhisatva kastooriya
2520.पूर्णिका
2520.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
खामोश किताबें
खामोश किताबें
Madhu Shah
*पीड़ा*
*पीड़ा*
Dr. Priya Gupta
साँवलें रंग में सादगी समेटे,
साँवलें रंग में सादगी समेटे,
ओसमणी साहू 'ओश'
कैसा
कैसा
Ajay Mishra
" अकेलापन की तड़प"
Pushpraj Anant
"फितरत"
Ekta chitrangini
मेरी माटी मेरा देश
मेरी माटी मेरा देश
नूरफातिमा खातून नूरी
मां आई
मां आई
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
पनघट और पगडंडी
पनघट और पगडंडी
Punam Pande
पड़ोसन की ‘मी टू’ (व्यंग्य कहानी)
पड़ोसन की ‘मी टू’ (व्यंग्य कहानी)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
"जीवन चक्र"
Dr. Kishan tandon kranti
*लगता है अक्सर फँसे ,दुनिया में बेकार (कुंडलिया)*
*लगता है अक्सर फँसे ,दुनिया में बेकार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Loading...