Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Feb 2024 · 1 min read

मौन मुसाफ़िर उड़ चला,

मौन मुसाफ़िर उड़ चला,
छोड़ देह का गाँव ।
अम्बर-अम्बर ढूँढता,
उस दाता की ठाँव ।।

सुशील सरना / 12-2-24

87 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
गरजता है, बरसता है, तड़पता है, फिर रोता है
गरजता है, बरसता है, तड़पता है, फिर रोता है
Suryakant Dwivedi
"तुम इंसान हो"
Dr. Kishan tandon kranti
मज़हब नहीं सिखता बैर
मज़हब नहीं सिखता बैर
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
एक सच
एक सच
Neeraj Agarwal
पैगाम
पैगाम
Shashi kala vyas
3393⚘ *पूर्णिका* ⚘
3393⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
17- राष्ट्रध्वज हो सबसे ऊँचा
17- राष्ट्रध्वज हो सबसे ऊँचा
Ajay Kumar Vimal
खद्योत हैं
खद्योत हैं
Sanjay ' शून्य'
Ye sham uski yad me gujarti nahi,
Ye sham uski yad me gujarti nahi,
Sakshi Tripathi
गर्म हवाओं ने सैकड़ों का खून किया है
गर्म हवाओं ने सैकड़ों का खून किया है
Anil Mishra Prahari
" कुछ काम करो "
DrLakshman Jha Parimal
दिल में है जो बात
दिल में है जो बात
Surinder blackpen
आलस्य का शिकार
आलस्य का शिकार
Paras Nath Jha
खो गए हैं ये धूप के साये
खो गए हैं ये धूप के साये
Shweta Soni
एक बेहतर जिंदगी का ख्वाब लिए जी रहे हैं सब
एक बेहतर जिंदगी का ख्वाब लिए जी रहे हैं सब
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
एक खूबसूरत पिंजरे जैसा था ,
एक खूबसूरत पिंजरे जैसा था ,
लक्ष्मी सिंह
मेरी लाज है तेरे हाथ
मेरी लाज है तेरे हाथ
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जी.आज़ाद मुसाफिर भाई
जी.आज़ाद मुसाफिर भाई
gurudeenverma198
*डॉक्टर चंद्रप्रकाश सक्सेना कुमुद जी*
*डॉक्टर चंद्रप्रकाश सक्सेना कुमुद जी*
Ravi Prakash
माँ
माँ
Dinesh Kumar Gangwar
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
मनोज कर्ण
आउट करें, गेट आउट करें
आउट करें, गेट आउट करें
Dr MusafiR BaithA
पहले आदमी 10 लाख में
पहले आदमी 10 लाख में
*Author प्रणय प्रभात*
अगर आप सही हैं, तो आपके साथ सही ही होगा।
अगर आप सही हैं, तो आपके साथ सही ही होगा।
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ख्वाब हो गए हैं वो दिन
ख्वाब हो गए हैं वो दिन
shabina. Naaz
श्री राम एक मंत्र है श्री राम आज श्लोक हैं
श्री राम एक मंत्र है श्री राम आज श्लोक हैं
Shankar N aanjna
मन की बात
मन की बात
पूर्वार्थ
"शिक्षक तो बोलेगा”
पंकज कुमार कर्ण
5
5"गांव की बुढ़िया मां"
राकेश चौरसिया
यकीन नहीं होता
यकीन नहीं होता
Dr. Rajeev Jain
Loading...