Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jan 2024 · 1 min read

मौज-मस्ती

😊मौजमस्ती😊
मेरी मौज मस्ती की कहानी,
सुनिए मेरी जुवानी
वो बचपन के प्यारे प्यारे दिन
वो कागज़ की कश्ती
हमने भी बचपन में खूब की थी मस्ती,
वो बारिश का आना फिर बारिश में नहाना
वो बारिश का पानी, कागज़ की कश्ती बनानी
फिर पानी में चलानी, वो करते थे हम अपने बचपन में नादानी,
वो मिट्टी के गडढे उसमें रोक देना हमने पानी,
वो बारिश का पानी, वो नदियाँ उफखनी
बहुत याद आती है बचपन की शैतानी
पापा का हमें पढ़ाना, उनसे फिर डाँट खानी
बहुत याद आती है बचपन की शैतानी
अपनी मौज मस्ती की कहानी,
बचपन बीता फिर आ गई जवानी
पड़ी जब जिम्मेदारियाँ तो भूल गए सारी नादानी
बहुत याद आती है बचपन की नादू
बचपन में ही गुम गई हमारी तो
मौज मस्ती की कहानी।

60 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तेरी खुशी
तेरी खुशी
Dr fauzia Naseem shad
विवाह रचाने वाले बंदर / MUSAFIR BAITHA
विवाह रचाने वाले बंदर / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
💐प्रेम कौतुक-363💐
💐प्रेम कौतुक-363💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मौन की सरहद
मौन की सरहद
Dr. Kishan tandon kranti
काव्य में सहृदयता
काव्य में सहृदयता
कवि रमेशराज
कहीं ख्वाब रह गया कहीं अरमान रह गया
कहीं ख्वाब रह गया कहीं अरमान रह गया
VINOD CHAUHAN
गुरु-पूर्णिमा पर...!!
गुरु-पूर्णिमा पर...!!
Kanchan Khanna
पापा की गुड़िया
पापा की गुड़िया
Dr Parveen Thakur
■
■ "टेगासुर" के कज़न्स। 😊😊
*Author प्रणय प्रभात*
मिलेंगे कल जब हम तुम
मिलेंगे कल जब हम तुम
gurudeenverma198
पल
पल
Sangeeta Beniwal
कठिनाईयां देखते ही डर जाना और इससे उबरने के लिए कोई प्रयत्न
कठिनाईयां देखते ही डर जाना और इससे उबरने के लिए कोई प्रयत्न
Paras Nath Jha
टन टन बजेगी घंटी
टन टन बजेगी घंटी
SHAMA PARVEEN
॥ संकटमोचन हनुमानाष्टक ॥
॥ संकटमोचन हनुमानाष्टक ॥
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
जल प्रदूषण दुःख की है खबर
जल प्रदूषण दुःख की है खबर
Buddha Prakash
*वीरस्य भूषणम् *
*वीरस्य भूषणम् *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
जब प्रेम की परिणति में
जब प्रेम की परिणति में
Shweta Soni
"नींद की तलाश"
Pushpraj Anant
जिन्दगी के रंग
जिन्दगी के रंग
Santosh Shrivastava
तन के लोभी सब यहाँ, मन का मिला न मीत ।
तन के लोभी सब यहाँ, मन का मिला न मीत ।
sushil sarna
मुझको शिकायत है
मुझको शिकायत है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हास्य कुंडलियाँ
हास्य कुंडलियाँ
Ravi Prakash
वर्षों जहां में रहकर
वर्षों जहां में रहकर
पूर्वार्थ
दरोगा तेरा पेट
दरोगा तेरा पेट
Satish Srijan
* मन में उभरे हुए हर सवाल जवाब और कही भी नही,,
* मन में उभरे हुए हर सवाल जवाब और कही भी नही,,
Vicky Purohit
यादें .....…......मेरा प्यारा गांव
यादें .....…......मेरा प्यारा गांव
Neeraj Agarwal
ज़ब तक धर्मों मे पाप धोने की व्यवस्था है
ज़ब तक धर्मों मे पाप धोने की व्यवस्था है
शेखर सिंह
हकीकत
हकीकत
Dr. Seema Varma
दोहा
दोहा
प्रीतम श्रावस्तवी
Loading...