Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Apr 2023 · 1 min read

मै भटकता ही रहा दश्त ए शनासाई में

ग़ज़ल
मैं भटकता ही रहा दश्त-ए-शनासाई¹ में
कोई उतरा ही नहीं रूह की गहराई में

क्या मिलाया है बता जाम-ए-पज़ीराई² में
ख़ूब नश्शा है तेरी हौसला-अफ़जाई³ में

तेरी यादों की सुई, प्रेम का धागा मेरा
काम आये हैं बहुत ज़ख़्मों की तुरपाई में

डस रही है ये सियह-रात⁴ की नागिन मुझको
भर रही ज़हर-ए-ख़मोशी⁵, रग-ए-तन्हाई⁶ में

सुर्मा-ए-मक्र-ओ-फ़रेब⁷ आँखों में जब से है लगा
तब से है ख़ूब इज़ाफ़ा⁸ हद-ए-बीनाई⁹ में

फ़िक्र-ओ-फ़न¹⁰, रंग-ए-तग़ज़्ज़ुल¹¹, न ग़ज़ल की ख़ुशबू
बस लगा रहता हूँ मैं क़ाफ़िया-पैमाई¹² में

सीख पानी से हुनर काम ‘अनीस’ आएगा
दौड़ कर ख़ुद ही चला आता है गहराई में
– अनीस शाह ‘अनीस ‘
1.जान पहचान का जंगल
2.जाम-ए-पज़ीराई =स्वीकृति का जाम।
3.प्रोत्साहन।
4.काली रात
5.ख़ामोशी का ज़हर
6.अकेलेपन की नस
7.मक्कारी और धोखे का सुर्मा
8.बढ़ोत्तरी ,लाभ
9.देखने की सीमा
10. भाव और शिल्प
11.ग़ज़ल की सुंदरता का रंग।
12.तुकबंदी।

Language: Hindi
2 Likes · 235 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तू शौक से कर सितम ,
तू शौक से कर सितम ,
शेखर सिंह
फ़र्क़ यह नहीं पड़ता
फ़र्क़ यह नहीं पड़ता
Anand Kumar
*दीवाली मनाएंगे*
*दीवाली मनाएंगे*
Seema gupta,Alwar
#बाक़ी_सब_बेकार 😊😊
#बाक़ी_सब_बेकार 😊😊
*Author प्रणय प्रभात*
#करना है, मतदान हमको#
#करना है, मतदान हमको#
Dushyant Kumar
मनुष्य की महत्ता
मनुष्य की महत्ता
ओंकार मिश्र
ओ मां के जाये वीर मेरे...
ओ मां के जाये वीर मेरे...
Sunil Suman
बुढ़ादेव तुम्हें नमो-नमो
बुढ़ादेव तुम्हें नमो-नमो
नेताम आर सी
निभा गये चाणक्य सा,
निभा गये चाणक्य सा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*चाहता दो वक्त रोटी ,बैठ घर पर खा सकूँ 【हिंदी गजल/ गीतिका】*
*चाहता दो वक्त रोटी ,बैठ घर पर खा सकूँ 【हिंदी गजल/ गीतिका】*
Ravi Prakash
हरि हृदय को हरा करें,
हरि हृदय को हरा करें,
sushil sarna
मेरा होकर मिलो
मेरा होकर मिलो
Mahetaru madhukar
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
Quote..
Quote..
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
You relax on a plane, even though you don't know the pilot.
You relax on a plane, even though you don't know the pilot.
पूर्वार्थ
" महखना "
Pushpraj Anant
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर हार्दिक शुभकामनाएं
अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर हार्दिक शुभकामनाएं
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ज़िंदगी मेरी दर्द की सुनामी बनकर उभरी है
ज़िंदगी मेरी दर्द की सुनामी बनकर उभरी है
Bhupendra Rawat
बुजुर्ग कहीं नहीं जाते ...( पितृ पक्ष अमावस्या विशेष )
बुजुर्ग कहीं नहीं जाते ...( पितृ पक्ष अमावस्या विशेष )
ओनिका सेतिया 'अनु '
शीर्षक - कुदरत के रंग...... एक सच
शीर्षक - कुदरत के रंग...... एक सच
Neeraj Agarwal
Affection couldn't be found in shallow spaces.
Affection couldn't be found in shallow spaces.
Manisha Manjari
2600.पूर्णिका
2600.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
कामुकता एक ऐसा आभास है जो सब प्रकार की शारीरिक वीभत्सना को ख
कामुकता एक ऐसा आभास है जो सब प्रकार की शारीरिक वीभत्सना को ख
Rj Anand Prajapati
तेरी हर ख़ुशी पहले, मेरे गम उसके बाद रहे,
तेरी हर ख़ुशी पहले, मेरे गम उसके बाद रहे,
डी. के. निवातिया
मंत्र :या देवी सर्वभूतेषु सृष्टि रूपेण संस्थिता।
मंत्र :या देवी सर्वभूतेषु सृष्टि रूपेण संस्थिता।
Harminder Kaur
संविधान ग्रंथ नहीं मां भारती की एक आत्मा🇮🇳
संविधान ग्रंथ नहीं मां भारती की एक आत्मा🇮🇳
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
किताब का दर्द
किताब का दर्द
Dr. Man Mohan Krishna
कोयल (बाल कविता)
कोयल (बाल कविता)
नाथ सोनांचली
श्रीराम वन में
श्रीराम वन में
नवीन जोशी 'नवल'
Loading...