Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jan 2023 · 1 min read

मैथिली मुक्तक / मैथिली शायरी (Maithili Muktak / Maithili Shayari)

मैथिली मुक्तक मैथिली शायरी

चोरक शत्रु चान जगत मे
सब सँ आगू बैमान जगत मे
उल्टा–पुल्टा सयम चक्र बीच
बचाउ कहुना मान जगन मे ।।

मिथिला बिहारी नगरपालिका
मिथिलेश्वर मौवाही – ३
धनुषा, नेपाल

Language: Maithili
2 Likes · 1017 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मिस्टर चंदा (बाल कविता)
मिस्टर चंदा (बाल कविता)
Ravi Prakash
ऐ मां वो गुज़रा जमाना याद आता है।
ऐ मां वो गुज़रा जमाना याद आता है।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
* संस्कार *
* संस्कार *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
देखिए खूबसूरत हुई भोर है।
देखिए खूबसूरत हुई भोर है।
surenderpal vaidya
3478🌷 *पूर्णिका* 🌷
3478🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
इतना रोई कलम
इतना रोई कलम
Dhirendra Singh
पढ़ें बेटियां-बढ़ें बेटियां
पढ़ें बेटियां-बढ़ें बेटियां
Shekhar Chandra Mitra
पूछा किसी ने  इश्क में हासिल है क्या
पूछा किसी ने इश्क में हासिल है क्या
sushil sarna
"गांव की मिट्टी और पगडंडी"
Ekta chitrangini
खैरात में मिली
खैरात में मिली
हिमांशु Kulshrestha
"दबंग झूठ"
Dr. Kishan tandon kranti
#अपनाएं_ये_हथकंडे...
#अपनाएं_ये_हथकंडे...
*प्रणय प्रभात*
छैल छबीली
छैल छबीली
Mahesh Tiwari 'Ayan'
जीवन में,
जीवन में,
नेताम आर सी
हाय.
हाय.
Vishal babu (vishu)
आज परी की वहन पल्लवी,पिंकू के घर आई है
आज परी की वहन पल्लवी,पिंकू के घर आई है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अनर्गल गीत नहीं गाती हूं!
अनर्गल गीत नहीं गाती हूं!
Mukta Rashmi
सृजन के जन्मदिन पर
सृजन के जन्मदिन पर
Satish Srijan
कोई भी मोटिवेशनल गुरू
कोई भी मोटिवेशनल गुरू
ruby kumari
सिलसिले..वक्त के भी बदल जाएंगे पहले तुम तो बदलो
सिलसिले..वक्त के भी बदल जाएंगे पहले तुम तो बदलो
पूर्वार्थ
प्रेम
प्रेम
Dr.Priya Soni Khare
आजकल नहीं बोलता हूं शर्म के मारे
आजकल नहीं बोलता हूं शर्म के मारे
Keshav kishor Kumar
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
क्या हमारी नियति हमारी नीयत तय करती हैं?
क्या हमारी नियति हमारी नीयत तय करती हैं?
Soniya Goswami
कश्मकश
कश्मकश
swati katiyar
धूल के फूल
धूल के फूल
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"हमारे दर्द का मरहम अगर बनकर खड़ा होगा
आर.एस. 'प्रीतम'
तन्हाई
तन्हाई
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
शिमला
शिमला
Dr Parveen Thakur
बन्दिगी
बन्दिगी
Monika Verma
Loading...