Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Nov 2023 · 1 min read

मेरे अल्फ़ाज़

हैं तुझी से शुरू , तुझ पर ख़त्म ।
मेरे अल्फ़ाज़ अब नहीं मेरे ।।
डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
3 Likes · 221 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
बोलो_क्या_तुम_बोल_रहे_हो?
बोलो_क्या_तुम_बोल_रहे_हो?
संजीव शुक्ल 'सचिन'
*जब एक ही वस्तु कभी प्रीति प्रदान करने वाली होती है और कभी द
*जब एक ही वस्तु कभी प्रीति प्रदान करने वाली होती है और कभी द
Shashi kala vyas
सफ़ेद चमड़ी और सफेद कुर्ते से
सफ़ेद चमड़ी और सफेद कुर्ते से
Harminder Kaur
वाणी से उबल रहा पाणि
वाणी से उबल रहा पाणि
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
और क्या कहूँ तुमसे मैं
और क्या कहूँ तुमसे मैं
gurudeenverma198
इल्तिजा
इल्तिजा
Bodhisatva kastooriya
गजब हुआ जो बाम पर,
गजब हुआ जो बाम पर,
sushil sarna
May 3, 2024
May 3, 2024
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सुहागरात की परीक्षा
सुहागरात की परीक्षा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दुम
दुम
Rajesh
2452.पूर्णिका
2452.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
शुभकामना संदेश.....
शुभकामना संदेश.....
Awadhesh Kumar Singh
गमों की चादर ओढ़ कर सो रहे थे तन्हां
गमों की चादर ओढ़ कर सो रहे थे तन्हां
Kumar lalit
विवाह का आधार अगर प्रेम न हो तो वह देह का विक्रय है ~ प्रेमच
विवाह का आधार अगर प्रेम न हो तो वह देह का विक्रय है ~ प्रेमच
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
ये नज़रें
ये नज़रें
Shyam Sundar Subramanian
दिल से करो पुकार
दिल से करो पुकार
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
122 122 122 12
122 122 122 12
SZUBAIR KHAN KHAN
#व्यंग्य_कविता :-
#व्यंग्य_कविता :-
*प्रणय प्रभात*
दहेज की जरूरत नही
दहेज की जरूरत नही
भरत कुमार सोलंकी
5 किलो मुफ्त के राशन का थैला हाथ में लेकर खुद को विश्वगुरु क
5 किलो मुफ्त के राशन का थैला हाथ में लेकर खुद को विश्वगुरु क
शेखर सिंह
"बिना पहचान के"
Dr. Kishan tandon kranti
ना तुमसे बिछड़ने का गम है......
ना तुमसे बिछड़ने का गम है......
Ashish shukla
थे कितने ख़ास मेरे,
थे कितने ख़ास मेरे,
Ashwini Jha
हमें दुख देकर खुश हुए थे आप
हमें दुख देकर खुश हुए थे आप
ruby kumari
*नल (बाल कविता)*
*नल (बाल कविता)*
Ravi Prakash
हाइकु: गौ बचाओं.!
हाइकु: गौ बचाओं.!
Prabhudayal Raniwal
बाल कविता: तोता
बाल कविता: तोता
Rajesh Kumar Arjun
एक सपना
एक सपना
Punam Pande
वक्त से गुज़ारिश
वक्त से गुज़ारिश
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पति मेरा मेरी जिंदगी का हमसफ़र है
पति मेरा मेरी जिंदगी का हमसफ़र है
VINOD CHAUHAN
Loading...