Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jan 2024 · 1 min read

मेरी तकलीफ़ पे तुझको भी रोना चाहिए।

मेरी तकलीफ़ पे तुझको भी रोना चाहिए।
मुझे जब हो तुझे भी दर्द होना चाहिए।।

बदलता करवटें रहता हूँ सारी रात मैं।
तुझे क्या चैन से बिस्तर पे सोना चाहिए?
दवा कोई मरज़ की पास तेरे ना सही।
तुझे इस वक़्त मेरे साथ होना चाहिए।।
महब्बत की मैं दौलत तो लुटा सकता हूँ पर
मेरे महबूब को बस चाँदी सोना चाहिए।।
तुम अपने दिल में थोड़ी सी जगह दे दो सनम
हमें रोने की ख़ातिर एक कोना चाहिए।।
जो दिल पहले से ही घाइल हो नफ़रत से वहाँ,
सिवाए प्यार के क्या कुछ भी बोना चाहिए?
मिला है जो दुआओं और क़िस्मत से तुम्हें,
किसी भी हाल में क्या उसको खोना चाहिए?
जमी है मैल पछतावे की दिल में जो ‘
उसे अश्कों से अपने तुमको धोना चाहिए।।

62 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शिवाजी गुरु समर्थ रामदास – बाल्यकाल और नया पड़ाव – 02
शिवाजी गुरु समर्थ रामदास – बाल्यकाल और नया पड़ाव – 02
Sadhavi Sonarkar
*जब तू रूठ जाता है*
*जब तू रूठ जाता है*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गाँव से चलकर पैदल आ जाना,
गाँव से चलकर पैदल आ जाना,
Anand Kumar
दोस्ती....
दोस्ती....
Harminder Kaur
चुप्पी और गुस्से का वर्णभेद / मुसाफ़िर बैठा
चुप्पी और गुस्से का वर्णभेद / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
काव्य में अलौकिकत्व
काव्य में अलौकिकत्व
कवि रमेशराज
मैं कौन हूं
मैं कौन हूं
Anup kanheri
रिश्ते-नाते
रिश्ते-नाते
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
शक्ति राव मणि
आखिरी उम्मीद
आखिरी उम्मीद
Surya Barman
लौट कर रास्ते भी
लौट कर रास्ते भी
Dr fauzia Naseem shad
मोहब्बत के शरबत के रंग को देख कर
मोहब्बत के शरबत के रंग को देख कर
Shakil Alam
जीवन में मोह माया का अपना रंग है।
जीवन में मोह माया का अपना रंग है।
Neeraj Agarwal
कविता -
कविता - "बारिश में नहाते हैं।' आनंद शर्मा
Anand Sharma
जागो जागो तुम सरकार
जागो जागो तुम सरकार
gurudeenverma198
💐प्रेम कौतुक-330💐
💐प्रेम कौतुक-330💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*** चल अकेला.....!!! ***
*** चल अकेला.....!!! ***
VEDANTA PATEL
NEEL PADAM
NEEL PADAM
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
लोगबाग जो संग गायेंगे होली में
लोगबाग जो संग गायेंगे होली में
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
2440.पूर्णिका
2440.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
" मानस मायूस "
Dr Meenu Poonia
दीप ज्योति जलती है जग उजियारा करती है
दीप ज्योति जलती है जग उजियारा करती है
Umender kumar
"यूं तो फेहरिश्त में हैं
*Author प्रणय प्रभात*
भाई बहन का प्रेम
भाई बहन का प्रेम
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
कौतूहल एवं जिज्ञासा
कौतूहल एवं जिज्ञासा
Shyam Sundar Subramanian
*चुन मुन पर अत्याचार*
*चुन मुन पर अत्याचार*
Nishant prakhar
वास्तविकता से परिचित करा दी गई है
वास्तविकता से परिचित करा दी गई है
Keshav kishor Kumar
छलते हैं क्यों आजकल,
छलते हैं क्यों आजकल,
sushil sarna
*जन्म लिया है बेटी ने तो, दुगनी खुशी मनाऍं (गीत)*
*जन्म लिया है बेटी ने तो, दुगनी खुशी मनाऍं (गीत)*
Ravi Prakash
मुहब्बत
मुहब्बत
बादल & बारिश
Loading...