Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jun 2018 · 1 min read

मुक्तक

छिन्न -भिन्न अस्त -व्यस्त ये शब्द न जीवन में भाते
कृत्य सर्व सुखाय करें सन्तोष मिले न अकुलाते
उत्तम भाव त्याग समर्पण कर सुखी मन मस्त रहे
जिंदगी है बहती सी नदी रुकते जल सड़ जाते

Language: Hindi
302 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
एक कुंडलिया
एक कुंडलिया
SHAMA PARVEEN
इंसान की चाहत है, उसे उड़ने के लिए पर मिले
इंसान की चाहत है, उसे उड़ने के लिए पर मिले
Satyaveer vaishnav
जैसे तुम कह दो वैसे नज़र आएं हम,
जैसे तुम कह दो वैसे नज़र आएं हम,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
" भँवर "
Dr. Kishan tandon kranti
संतोष धन
संतोष धन
Sanjay ' शून्य'
***
*** " मन मेरा क्यों उदास है....? " ***
VEDANTA PATEL
है शारदे मां
है शारदे मां
नेताम आर सी
ग़ज़ल _ आराधना करूं मैं या मैं करूं इबादत।
ग़ज़ल _ आराधना करूं मैं या मैं करूं इबादत।
Neelofar Khan
3126.*पूर्णिका*
3126.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सुख हो या दुख बस राम को ही याद रखो,
सुख हो या दुख बस राम को ही याद रखो,
सत्य कुमार प्रेमी
इल्म
इल्म
Bodhisatva kastooriya
आपका ही ख़्याल
आपका ही ख़्याल
Dr fauzia Naseem shad
तू ठहर चांद हम आते हैं
तू ठहर चांद हम आते हैं
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
हम अप्पन जन्मदिन ,सालगिरह आ शुभ अवसर क प्रदर्शन क दैत छी मुद
हम अप्पन जन्मदिन ,सालगिरह आ शुभ अवसर क प्रदर्शन क दैत छी मुद
DrLakshman Jha Parimal
आश्रम
आश्रम
इंजी. संजय श्रीवास्तव
*शुभ गणतंत्र दिवस कहलाता (बाल कविता)*
*शुभ गणतंत्र दिवस कहलाता (बाल कविता)*
Ravi Prakash
लाड बिगाड़े लाडला ,
लाड बिगाड़े लाडला ,
sushil sarna
आज हम जा रहे थे, और वह आ रही थी।
आज हम जा रहे थे, और वह आ रही थी।
SPK Sachin Lodhi
पेइंग गेस्ट
पेइंग गेस्ट
Dr. Pradeep Kumar Sharma
संस्कारों की रिक्तता
संस्कारों की रिक्तता
पूर्वार्थ
आज पशु- पक्षी कीमती
आज पशु- पक्षी कीमती
Meera Thakur
THE SUN
THE SUN
SURYA PRAKASH SHARMA
#दोहा-
#दोहा-
*प्रणय प्रभात*
उसकी मोहब्बत का नशा भी कमाल का था.......
उसकी मोहब्बत का नशा भी कमाल का था.......
Ashish shukla
हमें अलग हो जाना चाहिए
हमें अलग हो जाना चाहिए
Shekhar Chandra Mitra
खुद से प्यार
खुद से प्यार
लक्ष्मी सिंह
वतन की राह में, मिटने की हसरत पाले बैठा हूँ
वतन की राह में, मिटने की हसरत पाले बैठा हूँ
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*सपनों का बादल*
*सपनों का बादल*
Poonam Matia
आप की असफलता में पहले आ शब्द लगा हुआ है जिसका विस्तृत अर्थ ह
आप की असफलता में पहले आ शब्द लगा हुआ है जिसका विस्तृत अर्थ ह
Rj Anand Prajapati
"खामोशी की गहराईयों में"
Pushpraj Anant
Loading...