Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 May 2018 · 1 min read

मुक्तक

तेरी याद है दिल में दर्दे–तन्हाई सी!
ख्वाहिशों की शक्ल में तैरती परछाई सी!
चाहत हर पल गूँजती है मेरे सीने में,
तेरी तमन्नाओं की जैसे शहनाई सी!

मुक्तककार- #मिथिलेश_राय

Language: Hindi
281 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*जीत का जश्न*
*जीत का जश्न*
Santosh kumar Miri
आईना देख
आईना देख
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
आकर्षण मृत्यु का
आकर्षण मृत्यु का
Shaily
शीर्षक:-सुख तो बस हरजाई है।
शीर्षक:-सुख तो बस हरजाई है।
Pratibha Pandey
अर्थव्यवस्था और देश की हालात
अर्थव्यवस्था और देश की हालात
Mahender Singh
क्या खोकर ग़म मनाऊ, किसे पाकर नाज़ करूँ मैं,
क्या खोकर ग़म मनाऊ, किसे पाकर नाज़ करूँ मैं,
Chandrakant Sahu
*नई सदी में चल रहा, शिक्षा का व्यापार (दस दोहे)*
*नई सदी में चल रहा, शिक्षा का व्यापार (दस दोहे)*
Ravi Prakash
दोगलापन
दोगलापन
Mamta Singh Devaa
कविता-आ रहे प्रभु राम अयोध्या 🙏
कविता-आ रहे प्रभु राम अयोध्या 🙏
Madhuri Markandy
वो तो नाराजगी से डरते हैं।
वो तो नाराजगी से डरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बह्र 2122 2122 212 फ़ाईलातुन फ़ाईलातुन फ़ाईलुन
बह्र 2122 2122 212 फ़ाईलातुन फ़ाईलातुन फ़ाईलुन
Neelam Sharma
मेरे कृष्ण की माय आपर
मेरे कृष्ण की माय आपर
Neeraj Mishra " नीर "
कैसे हमसे प्यार करोगे
कैसे हमसे प्यार करोगे
KAVI BHOLE PRASAD NEMA CHANCHAL
लगे रहो भक्ति में बाबा श्याम बुलाएंगे【Bhajan】
लगे रहो भक्ति में बाबा श्याम बुलाएंगे【Bhajan】
Khaimsingh Saini
"क्या लिखूं क्या लिखूं"
Yogendra Chaturwedi
हक़ीक़त ये अपनी जगह है
हक़ीक़त ये अपनी जगह है
Dr fauzia Naseem shad
गौ माता...!!
गौ माता...!!
Ravi Betulwala
बचपन का प्रेम
बचपन का प्रेम
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
Happy new year 2024
Happy new year 2024
Ranjeet kumar patre
आक्रोश प्रेम का
आक्रोश प्रेम का
भरत कुमार सोलंकी
Bundeli Doha-Anmane
Bundeli Doha-Anmane
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अंधा वो नहीं होता है
अंधा वो नहीं होता है
ओंकार मिश्र
जीवन भर मरते रहे, जो बस्ती के नाम।
जीवन भर मरते रहे, जो बस्ती के नाम।
Suryakant Dwivedi
माँ बाप बिना जीवन
माँ बाप बिना जीवन
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
"जुदा ही ना होते"
Ajit Kumar "Karn"
एक बेवफा का प्यार है आज भी दिल में मेरे
एक बेवफा का प्यार है आज भी दिल में मेरे
VINOD CHAUHAN
2482.पूर्णिका
2482.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
तेरे ख़त
तेरे ख़त
Surinder blackpen
आया पर्व पुनीत....
आया पर्व पुनीत....
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...