Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jun 2016 · 1 min read

रंग-रंगोली

हुरियारिन रंग डाले हुरियारे मन भाई होली
घुमा-घुमा लट्ठ मार रही, करती हंसी-ठिठोली
प्रेम पगे रंग लगे जोश से बजे ढोल मृदंग
हृदय के भीतर छा गई खुशियों की रंग रंगोली

Language: Hindi
Tag: मुक्तक
388 Views
You may also like:
सफर
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
ज़रूरी थोड़ी है
A.R.Sahil
नादानियाँ
Anamika Singh
फना
shabina. Naaz
“ हमर महिसक जन्म दिन पर आशीर्वाद दियोनि ”
DrLakshman Jha Parimal
हरतालिका तीज
संजीव शुक्ल 'सचिन'
हया आँख की
Dr. Sunita Singh
*परम चैतन्य*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"श्री अनंत चतुर्दशी"
पंकज कुमार कर्ण
प्रेम
श्याम सिंह बिष्ट
ज़मीं पे रहे या फलक पे उड़े हम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*संविधान गीत*
कवि लोकेन्द्र ज़हर
क्या हाल है आजकल
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Why Not Heaven Have Visiting Hours?
Manisha Manjari
बारिश
मनोज कर्ण
पैसा
Kanchan Khanna
सर्द चांदनी रात
Shriyansh Gupta
गीत हरदम प्रेम का सदा गुनगुनाते रहें
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
टोक्यो ओलंपिक 2021
Rakesh Bahanwal
✍️हार और जित✍️
'अशांत' शेखर
छोटा-सा परिवार
श्री रमण 'श्रीपद्'
क्रांतिवीर हेडगेवार*
Ravi Prakash
आदिवासी
Shekhar Chandra Mitra
हिसाब मोहब्बत का।
Taj Mohammad
हिन्दुस्तान की पहचान(मुक्तक)
Prabhudayal Raniwal
पितृ ऋण
Shyam Sundar Subramanian
तितली
लक्ष्मी सिंह
ज़ब्त की जिसमें
Dr fauzia Naseem shad
पुकार सुन लो
वीर कुमार जैन 'अकेला'
जब भी देखा है दूर से देखा
Anis Shah
Loading...