Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 May 2016 · 1 min read

मुक्तक

मान सम्मान से नही डरता,
खतरा ए जान से नही डरता।
तैर के दरिया पार करता है,
इश्क़ तूफ़ान से नही डरता।

दीपशिखा-

Language: Hindi
327 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कोरोना का आतंक
कोरोना का आतंक
Dr. Pradeep Kumar Sharma
The Misfit...
The Misfit...
R. H. SRIDEVI
উত্তর দাও পাহাড়
উত্তর দাও পাহাড়
Arghyadeep Chakraborty
विरक्ती
विरक्ती
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
बता तुम ही सांवरिया मेरे,
बता तुम ही सांवरिया मेरे,
Radha jha
!! राम जीवित रहे !!
!! राम जीवित रहे !!
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
होली
होली
Dr. Kishan Karigar
......तु कोन है मेरे लिए....
......तु कोन है मेरे लिए....
Naushaba Suriya
शिक्षा का महत्व
शिक्षा का महत्व
Dinesh Kumar Gangwar
मुझको अपनी शरण में ले लो हे मनमोहन हे गिरधारी
मुझको अपनी शरण में ले लो हे मनमोहन हे गिरधारी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
* सताना नहीं *
* सताना नहीं *
surenderpal vaidya
💐प्रेम कौतुक-528💐
💐प्रेम कौतुक-528💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मै भी हूं तन्हा,तुम भी हो तन्हा
मै भी हूं तन्हा,तुम भी हो तन्हा
Ram Krishan Rastogi
. काला काला बादल
. काला काला बादल
Paras Nath Jha
मुझसे मेरी पहचान न छीनों...
मुझसे मेरी पहचान न छीनों...
Er. Sanjay Shrivastava
रेशम की डोर राखी....
रेशम की डोर राखी....
राहुल रायकवार जज़्बाती
चश्मे
चश्मे
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Don't let people who have given up on your dreams lead you a
Don't let people who have given up on your dreams lead you a
पूर्वार्थ
कौर दो कौर की भूख थी
कौर दो कौर की भूख थी
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
सुरभित पवन फिज़ा को मादक बना रही है।
सुरभित पवन फिज़ा को मादक बना रही है।
सत्य कुमार प्रेमी
औरत की हँसी
औरत की हँसी
Dr MusafiR BaithA
बात बात में लड़ने लगे हैं _खून गर्म क्यों इतना है ।
बात बात में लड़ने लगे हैं _खून गर्म क्यों इतना है ।
Rajesh vyas
स्वप्न मन के सभी नित्य खंडित हुए ।
स्वप्न मन के सभी नित्य खंडित हुए ।
Arvind trivedi
सड़कों पर दौड़ रही है मोटर साइकिलें, अनगिनत कार।
सड़कों पर दौड़ रही है मोटर साइकिलें, अनगिनत कार।
Tushar Jagawat
तन तो केवल एक है,
तन तो केवल एक है,
sushil sarna
"जिसका जैसा नजरिया"
Dr. Kishan tandon kranti
"Do You Know"
शेखर सिंह
■ 24 घण्टे चौधराहट।
■ 24 घण्टे चौधराहट।
*Author प्रणय प्रभात*
रिश्ता एक ज़िम्मेदारी
रिश्ता एक ज़िम्मेदारी
Dr fauzia Naseem shad
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
Loading...