Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Feb 2023 · 1 min read

मुक्तक

मुक्तक
सच को झूठ बनाऊँ कैसे,मुझमें ऐसा असर नहीं।
बिना झूठ के इस दुनिया में,होती यारों बसर नहीं।
जान रहा हूँ यह सच्चाई,फिर भी झुका नहीं पाए,
मुझे झुकाने में लोगों ने, छोड़ी कोई कसर नहीं।।
-डॉ बिपिन पाण्डेय

1 Like · 494 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मेरी चाहत
मेरी चाहत
Namrata Sona
.
.
*प्रणय प्रभात*
‌‌भक्ति में शक्ति
‌‌भक्ति में शक्ति
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
रंगों का बस्ता
रंगों का बस्ता
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
अबोध अंतस....
अबोध अंतस....
Santosh Soni
दोहा-
दोहा-
दुष्यन्त बाबा
पापा आपकी बहुत याद आती है
पापा आपकी बहुत याद आती है
Kuldeep mishra (KD)
Maine apne samaj me aurto ko tutate dekha hai,
Maine apne samaj me aurto ko tutate dekha hai,
Sakshi Tripathi
कदम बढ़े  मदिरा पीने  को मदिरालय द्वार खड़काया
कदम बढ़े मदिरा पीने को मदिरालय द्वार खड़काया
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
सुन लिया करो दिल की आवाज को,
सुन लिया करो दिल की आवाज को,
Manisha Wandhare
*तन पर करिएगा नहीं, थोड़ा भी अभिमान( नौ दोहे )*
*तन पर करिएगा नहीं, थोड़ा भी अभिमान( नौ दोहे )*
Ravi Prakash
मेरा नौकरी से निलंबन?
मेरा नौकरी से निलंबन?
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
............
............
शेखर सिंह
ज्ञान से शिक्षित, व्यवहार से अनपढ़
ज्ञान से शिक्षित, व्यवहार से अनपढ़
पूर्वार्थ
समय
समय
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ज़हन खामोश होकर भी नदारत करता रहता है।
ज़हन खामोश होकर भी नदारत करता रहता है।
Phool gufran
“मां बनी मम्मी”
“मां बनी मम्मी”
पंकज कुमार कर्ण
मजदूर
मजदूर
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
तुम कहती हो की मुझसे बात नही करना।
तुम कहती हो की मुझसे बात नही करना।
Ashwini sharma
गम्भीर हवाओं का रुख है
गम्भीर हवाओं का रुख है
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
3419⚘ *पूर्णिका* ⚘
3419⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
नज़र बूरी नही, नजरअंदाज थी
नज़र बूरी नही, नजरअंदाज थी
संजय कुमार संजू
हौसला देने वाले अशआर
हौसला देने वाले अशआर
Dr fauzia Naseem shad
कब तक बरसेंगी लाठियां
कब तक बरसेंगी लाठियां
Shekhar Chandra Mitra
एकाकीपन
एकाकीपन
लक्ष्मी सिंह
"सपनों में"
Dr. Kishan tandon kranti
पहले जो मेरा यार था वो अब नहीं रहा।
पहले जो मेरा यार था वो अब नहीं रहा।
सत्य कुमार प्रेमी
"बहनों के संग बीता बचपन"
Ekta chitrangini
मेरी नाव
मेरी नाव
Juhi Grover
तुलना करके, दु:ख क्यों पाले
तुलना करके, दु:ख क्यों पाले
Dhirendra Singh
Loading...