Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jul 2016 · 1 min read

मुक्तक :– ग़म का साझेदार बना मुझे …….!!

मुक्तक :– ग़म का साझेदार बना मुझे ……!!

सात जन्म की पट्टेदारी संग तेरे सौ वार लूँ !
गम का साझेदार बना मुझे हर गम मै संघार लूँ !
गर काल तुझे लेने आये मौत खड़ी हो द्वार पे ,
सीना अड़ा के सामने मौत को स्वीकार लूँ !!

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 486 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Anuj Tiwari
View all
You may also like:
राम तुम्हारे नहीं हैं
राम तुम्हारे नहीं हैं
Harinarayan Tanha
माँ कहने के बाद भला अब, किस समर्थ कुछ देने को,
माँ कहने के बाद भला अब, किस समर्थ कुछ देने को,
pravin sharma
"महंगा तजुर्बा सस्ता ना मिलै"
MSW Sunil SainiCENA
★दाने बाली में ★
★दाने बाली में ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
"ख़्वाहिश"
Dr. Kishan tandon kranti
2318.पूर्णिका
2318.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
स्वयं पर नियंत्रण कर विजय प्राप्त करने वाला व्यक्ति उस व्यक्
स्वयं पर नियंत्रण कर विजय प्राप्त करने वाला व्यक्ति उस व्यक्
Paras Nath Jha
मेरा एक मित्र मेरा 1980 रुपया दो साल से दे नहीं रहा था, आज स
मेरा एक मित्र मेरा 1980 रुपया दो साल से दे नहीं रहा था, आज स
Anand Kumar
भारत के बीर जवान
भारत के बीर जवान
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
गर बिछड़ जाएं हम तो भी रोना न तुम
गर बिछड़ जाएं हम तो भी रोना न तुम
Dr Archana Gupta
*लफ्ज*
*लफ्ज*
Kumar Vikrant
जूते व जूती की महिमा (हास्य व्यंग)
जूते व जूती की महिमा (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
Writing Challenge- आरंभ (Beginning)
Writing Challenge- आरंभ (Beginning)
Sahityapedia
#मुक्तक
#मुक्तक
*Author प्रणय प्रभात*
💐💐तुम्हें देखा तो बहुत सुकून मिला💐💐
💐💐तुम्हें देखा तो बहुत सुकून मिला💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गाँधी हमेशा जिंदा है
गाँधी हमेशा जिंदा है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
गणेश चतुर्थी
गणेश चतुर्थी
Surinder blackpen
सच्चे दोस्त की ज़रूरत
सच्चे दोस्त की ज़रूरत
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
सुख - एक अहसास ....
सुख - एक अहसास ....
sushil sarna
Kalebs Banjo
Kalebs Banjo
shivanshi2011
तिरंगा
तिरंगा
Neeraj Agarwal
बुरा वक्त
बुरा वक्त
लक्ष्मी सिंह
“जिंदगी अधूरी है जब हॉबबिओं से दूरी है”
“जिंदगी अधूरी है जब हॉबबिओं से दूरी है”
DrLakshman Jha Parimal
हार पर प्रहार कर
हार पर प्रहार कर
Saransh Singh 'Priyam'
तब घर याद आता है
तब घर याद आता है
कवि दीपक बवेजा
परिपक्वता (maturity) को मापने के लिए उम्र का पैमाना (scale)
परिपक्वता (maturity) को मापने के लिए उम्र का पैमाना (scale)
Seema Verma
अफसोस मेरे दिल पे ये रहेगा उम्र भर ।
अफसोस मेरे दिल पे ये रहेगा उम्र भर ।
Phool gufran
गज़ल सी रचना
गज़ल सी रचना
Kanchan Khanna
* इस तरह महंगाई को काबू में लाना चाहिए【हिंदी गजल/ गीति
* इस तरह महंगाई को काबू में लाना चाहिए【हिंदी गजल/ गीति
Ravi Prakash
जो मौका रहनुमाई का मिला है
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
Loading...