Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Sep 2022 · 1 min read

मीरा के घुंघरू

लोग छुपाते हैं क्यों सबसे
इसे बदनामी की तरह
भरी सभा में आंख में आते
हुए पानी की तरह…
सारी लक्ष्मण रेखाएं लांघकर
अपने पैरों में घुंघरू बांधकर
वह प्यार ही क्या जो नचा दे
ना मीरा रानी की तरह…
मेरा दिल टूटा भी तो क्या हुआ
मेरा चैन लुटा भी तो क्या हुआ
मैं मातम मनाऊं क्यों इसका
किसी नाकामी की तरह…
जैसे कांटों में हंस कर चलती रही
जैसे आग में ज़िंदा जलती रही
मैं प्याला विष का भी पीऊंगी
एक दीवानी की तरह…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#love #पुकार #cry #sad #lyricist
#Radha #meera #RomanticRebel

Language: Hindi
Tag: गीत
2 Likes · 111 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मन हमेशा इसी बात से परेशान रहा,
मन हमेशा इसी बात से परेशान रहा,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
रूठना मनाना
रूठना मनाना
Aman Kumar Holy
जागो तो पाओ ; उमेश शुक्ल के हाइकु
जागो तो पाओ ; उमेश शुक्ल के हाइकु
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
एक दिन !
एक दिन !
Ranjana Verma
मैं धरा सी
मैं धरा सी
Surinder blackpen
अहसास
अहसास
Sandeep Pande
अस्तित्व है उसका
अस्तित्व है उसका
Dr fauzia Naseem shad
जीवन में जब संस्कारों का हो जाता है अंत
जीवन में जब संस्कारों का हो जाता है अंत
प्रेमदास वसु सुरेखा
Hello Sun!
Hello Sun!
Buddha Prakash
" मेरी तरह "
Aarti sirsat
*रहते परहित जो सदा, सौ-सौ उन्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
*रहते परहित जो सदा, सौ-सौ उन्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
रातों पर अब कोई शिकवा नहीं है
रातों पर अब कोई शिकवा नहीं है
कवि दीपक बवेजा
Tumhari khahish khuch iss kadar thi ki sajish na samajh paya
Tumhari khahish khuch iss kadar thi ki sajish na samajh paya
Sakshi Tripathi
कर रहे शुभकामना...
कर रहे शुभकामना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
होली का रंग
होली का रंग
मनोज कर्ण
घायल तुझे नींद आये न आये
घायल तुझे नींद आये न आये
Ravi Ghayal
बेटियां! दोपहर की झपकी सी
बेटियां! दोपहर की झपकी सी
Manu Vashistha
स्वप्न कुछ
स्वप्न कुछ
surenderpal vaidya
मुक्तक
मुक्तक
प्रीतम श्रावस्तवी
अपनों का दीद है।
अपनों का दीद है।
Satish Srijan
व्यक्ति नही व्यक्तित्व अस्ति नही अस्तित्व यशस्वी राज नाथ सिंह जी
व्यक्ति नही व्यक्तित्व अस्ति नही अस्तित्व यशस्वी राज नाथ सिंह जी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
शायर जानता है
शायर जानता है
Nanki Patre
भाव
भाव
Sanjay
नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो
नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो
Ram Krishan Rastogi
डियर कामरेड्स
डियर कामरेड्स
Shekhar Chandra Mitra
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
छोड़ कर महोब्बत कहा जाओगे
छोड़ कर महोब्बत कहा जाओगे
Anil chobisa
हमारी जिंदगी ,
हमारी जिंदगी ,
DrLakshman Jha Parimal
जिंदगी में गम ना हो तो क्या जिंदगी
जिंदगी में गम ना हो तो क्या जिंदगी
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
"कौन हूँ मैं"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...