Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Oct 2023 · 1 min read

” मिलन की चाह “

डॉ लक्ष्मण झा परिमल
===============
तुम्हारी याद आती है
कहूँ तो मैं कहूँ किसको
हृदय की वेदना को मैं
कहूँ तो मैं कहूँ किसको

निहारूँ राह मैं तेरी
रो रो दिन गुजरते हैं
कहूँ क्या हाल है मेरा
क्षितिज के तारे गिनते हैं

मेरी आँखें तरसती है
कहूँ तो मैं कहूँ किसको
हृदय की वेदना को मैं
कहूँ तो मैं कहूँ किसको

नयन से नीर बहते हैं
जुदाई सह नहीं सकती
जिगर में तीर लगते हैं
व्यथा को सह नहीं सकती

विरह की आग लगती है
कहूँ तो मैं कहूँ किसको
हृदय की वेदना को मैं
कहूँ तो मैं कहूँ किसको

चले आओ जहाँ हो तुम
तुम्हारी याद आती है
दूरियाँ अब नहीं भाये
मेरी आँखियाँ बुलाती है

मिलन की अब घड़ी आई
कहूँ तो मैं कहूँ किसको
हृदय की वेदना को मैं
कहूँ तो मैं कहूँ किसको !!
=====================
डॉ लक्ष्मण झा ” परिमल ”
साउंड हेल्थ क्लिनिक
एस ० पी ० कॉलेज रोड
दुमका
झारखण्ड
24.10.2023

Language: Hindi
Tag: गीत
109 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
उधार  ...
उधार ...
sushil sarna
चलो चलें बौद्ध धम्म में।
चलो चलें बौद्ध धम्म में।
Buddha Prakash
एक सच
एक सच
Neeraj Agarwal
"आइडिया"
Dr. Kishan tandon kranti
होता अगर मैं एक शातिर
होता अगर मैं एक शातिर
gurudeenverma198
*दुर्गा अंबे रानी, पधारो लेकर नन्हे पॉंव (गीत)*
*दुर्गा अंबे रानी, पधारो लेकर नन्हे पॉंव (गीत)*
Ravi Prakash
👉अगर तुम घन्टो तक उसकी ब्रेकअप स्टोरी बिना बोर हुए सुन लेते
👉अगर तुम घन्टो तक उसकी ब्रेकअप स्टोरी बिना बोर हुए सुन लेते
पूर्वार्थ
गाथा हिन्दी की
गाथा हिन्दी की
Tarun Singh Pawar
वह एक वस्तु,
वह एक वस्तु,
Shweta Soni
यदि सफलता चाहते हो तो सफल लोगों के दिखाए और बताए रास्ते पर च
यदि सफलता चाहते हो तो सफल लोगों के दिखाए और बताए रास्ते पर च
dks.lhp
चलो मतदान कर आएँ, निभाएँ फर्ज हम अपना।
चलो मतदान कर आएँ, निभाएँ फर्ज हम अपना।
डॉ.सीमा अग्रवाल
हसरतें बहुत हैं इस उदास शाम की
हसरतें बहुत हैं इस उदास शाम की
Abhinay Krishna Prajapati-.-(kavyash)
बारिश
बारिश
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
दो जीवन
दो जीवन
Rituraj shivem verma
Gairo ko sawarne me khuch aise
Gairo ko sawarne me khuch aise
Sakshi Tripathi
धरा कठोर भले हो कितनी,
धरा कठोर भले हो कितनी,
Satish Srijan
23/215. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/215. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
इश्क़ ला हासिल का हासिल कुछ नहीं
इश्क़ ला हासिल का हासिल कुछ नहीं
shabina. Naaz
-- दिव्यांग --
-- दिव्यांग --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
*मुहब्बत के मोती*
*मुहब्बत के मोती*
आर.एस. 'प्रीतम'
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दिल सचमुच आनंदी मीर बना।
दिल सचमुच आनंदी मीर बना।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🙅एक शोध🙅
🙅एक शोध🙅
*Author प्रणय प्रभात*
आओ बुद्ध की ओर चलें
आओ बुद्ध की ओर चलें
Shekhar Chandra Mitra
शुरुवात जरूरी है...!!
शुरुवात जरूरी है...!!
Shyam Pandey
World Blood Donar's Day
World Blood Donar's Day
Tushar Jagawat
उदास देख कर मुझको उदास रहने लगे।
उदास देख कर मुझको उदास रहने लगे।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
ख़्वाब सजाना नहीं है।
ख़्वाब सजाना नहीं है।
Anil "Aadarsh"
💐प्रेम कौतुक-487💐
💐प्रेम कौतुक-487💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"अपेक्षा"
Yogendra Chaturwedi
Loading...