Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Sep 2022 · 1 min read

माँ ब्रह्मचारिणी

आयी है दूजे दिवस, ब्रह्मचारिणी मात ।
लिए कमण्डल हाथ में, देती हैं सौगात।।
देती हैं सौगात, कृपा अम्बे बरसाए,
सौम्य सुहाना रूप, नैन को अति हर्षाए ।।
पावन ये नवरात्रि, खुशी हर मन में छायी,
झूमे, नाचें आज, मात अंबे घर आयी।।

वन्दना नामदेव

1 Like · 152 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जन कल्याण कारिणी
जन कल्याण कारिणी
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
प्रेमी चील सरीखे होते हैं ;
प्रेमी चील सरीखे होते हैं ;
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
■ आज का शेर दिल की दुनिया से।।
■ आज का शेर दिल की दुनिया से।।
*Author प्रणय प्रभात*
ये दुनिया है साहब यहां सब धन,दौलत,पैसा, पावर,पोजीशन देखते है
ये दुनिया है साहब यहां सब धन,दौलत,पैसा, पावर,पोजीशन देखते है
Ranjeet kumar patre
तथाकथित धार्मिक बोलबाला झूठ पर आधारित है
तथाकथित धार्मिक बोलबाला झूठ पर आधारित है
Mahender Singh
सम्मान नहीं मिलता
सम्मान नहीं मिलता
Dr fauzia Naseem shad
क्या कहुं ऐ दोस्त, तुम प्रोब्लम में हो, या तुम्हारी जिंदगी
क्या कहुं ऐ दोस्त, तुम प्रोब्लम में हो, या तुम्हारी जिंदगी
लक्की सिंह चौहान
ऑन लाइन पेमेंट
ऑन लाइन पेमेंट
Satish Srijan
*संस्मरण*
*संस्मरण*
Ravi Prakash
कसूर उनका नहीं मेरा ही था,
कसूर उनका नहीं मेरा ही था,
Vishal babu (vishu)
वो किताब अब भी जिन्दा है।
वो किताब अब भी जिन्दा है।
दुर्गा प्रसाद नाग
मूँछ पर दोहे (मूँछ-मुच्छड़ पुराण दोहावली )
मूँछ पर दोहे (मूँछ-मुच्छड़ पुराण दोहावली )
Subhash Singhai
धैर्य.....….....सब्र
धैर्य.....….....सब्र
Neeraj Agarwal
"करिए ऐसे वार"
Dr. Kishan tandon kranti
जब गेंद बोलती है, धरती हिलती है, मोहम्मद शमी का जादू, बयां क
जब गेंद बोलती है, धरती हिलती है, मोहम्मद शमी का जादू, बयां क
Sahil Ahmad
"वक्त" भी बड़े ही कमाल
नेताम आर सी
Tlash
Tlash
Swami Ganganiya
23/126.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/126.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मुनाफे में भी घाटा क्यों करें हम।
मुनाफे में भी घाटा क्यों करें हम।
सत्य कुमार प्रेमी
पुस्तक समीक्षा-सपनों का शहर
पुस्तक समीक्षा-सपनों का शहर
दुष्यन्त 'बाबा'
कविता
कविता
Rambali Mishra
शिक्षा व्यवस्था
शिक्षा व्यवस्था
Anjana banda
" from 2024 will be the quietest era ever for me. I just wan
पूर्वार्थ
चूरचूर क्यों ना कर चुकी हो दुनिया,आज तूं ख़ुद से वादा कर ले
चूरचूर क्यों ना कर चुकी हो दुनिया,आज तूं ख़ुद से वादा कर ले
Nilesh Premyogi
संत साईं बाबा
संत साईं बाबा
Pravesh Shinde
*लाल सरहद* ( 13 of 25 )
*लाल सरहद* ( 13 of 25 )
Kshma Urmila
पर्वत दे जाते हैं
पर्वत दे जाते हैं
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
हीरक जयंती 
हीरक जयंती 
Punam Pande
माथे की बिंदिया
माथे की बिंदिया
Pankaj Bindas
💐प्रेम कौतुक-477💐
💐प्रेम कौतुक-477💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...