Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Oct 2022 · 1 min read

माँ कालरात्रि

काला तन का रंग है, कालरात्रि है नाम।
दिवस सप्तमी पूजते, हृदय भाव अविराम।।
हृदय भाव अविराम,नमन शत शत हे माता।
करतीं भय का नाश, सदा शुभता नर पाता ।।
अस्त्र हाथ तलवार, पहन मुंडों की माला ।
रहतीं गधा सवार, रूप भाए मन काला।।

वन्दना नामदेव

356 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सुख- दुःख
सुख- दुःख
Dr. Upasana Pandey
बसंत
बसंत
Bodhisatva kastooriya
"असर"
Dr. Kishan tandon kranti
* मन में उभरे हुए हर सवाल जवाब और कही भी नही,,
* मन में उभरे हुए हर सवाल जवाब और कही भी नही,,
Vicky Purohit
बेख़ौफ़ क़लम
बेख़ौफ़ क़लम
Shekhar Chandra Mitra
पंख पतंगे के मिले,
पंख पतंगे के मिले,
sushil sarna
जीत और हार ज़िंदगी का एक हिस्सा है ,
जीत और हार ज़िंदगी का एक हिस्सा है ,
Neelofar Khan
बादल बनके अब आँसू आँखों से बरसते हैं ।
बादल बनके अब आँसू आँखों से बरसते हैं ।
Neelam Sharma
रास्ते में आएंगी रुकावटें बहुत!!
रास्ते में आएंगी रुकावटें बहुत!!
पूर्वार्थ
फ्राॅड की कमाई
फ्राॅड की कमाई
Punam Pande
3363.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3363.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
तेरी यादों ने इस ओर आना छोड़ दिया है
तेरी यादों ने इस ओर आना छोड़ दिया है
Bhupendra Rawat
तीन स्थितियाँ [कथाकार-कवि उदयप्रकाश की एक कविता से प्रेरित] / MUSAFIR BAITHA
तीन स्थितियाँ [कथाकार-कवि उदयप्रकाश की एक कविता से प्रेरित] / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
Rakesh Yadav - Desert Fellow - निर्माण करना होगा
Rakesh Yadav - Desert Fellow - निर्माण करना होगा
Desert fellow Rakesh
*दीवाली मनाएंगे*
*दीवाली मनाएंगे*
Seema gupta,Alwar
बेपरवाह खुशमिज़ाज़ पंछी
बेपरवाह खुशमिज़ाज़ पंछी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
I don't listen the people
I don't listen the people
VINOD CHAUHAN
रात का आलम किसने देखा
रात का आलम किसने देखा
कवि दीपक बवेजा
*क्षीर सागर (बाल कविता)*
*क्षीर सागर (बाल कविता)*
Ravi Prakash
🙅अजब संयोग🙅
🙅अजब संयोग🙅
*प्रणय प्रभात*
*धनतेरस का त्यौहार*
*धनतेरस का त्यौहार*
Harminder Kaur
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दिल तड़प उठता है, जब भी तेरी याद आती है,😥
दिल तड़प उठता है, जब भी तेरी याद आती है,😥
SPK Sachin Lodhi
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
शिव प्रताप लोधी
शिव मिल शिव बन जाता
शिव मिल शिव बन जाता
Satish Srijan
महात्मा गांधी
महात्मा गांधी
Rajesh
9--🌸छोड़ आये वे गलियां 🌸
9--🌸छोड़ आये वे गलियां 🌸
Mahima shukla
हमारी आंखों में
हमारी आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
मर्दुम-बेज़ारी
मर्दुम-बेज़ारी
Shyam Sundar Subramanian
ये नयी सभ्यता हमारी है
ये नयी सभ्यता हमारी है
Shweta Soni
Loading...