Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Dec 2023 · 1 min read

मरना कोई नहीं चाहता पर मर जाना पड़ता है

मरना कोई नहीं चाहता पर मर जाना पड़ता है
मेहमान है सब इस धरती पर और घर जाना पड़ता है
-सिद्धार्थ

182 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कसूर उनका नहीं मेरा ही था,
कसूर उनका नहीं मेरा ही था,
Vishal babu (vishu)
पर्वतों से भी ऊॅ॑चा,बुलंद इरादा रखता हूॅ॑ मैं
पर्वतों से भी ऊॅ॑चा,बुलंद इरादा रखता हूॅ॑ मैं
VINOD CHAUHAN
बाल मन
बाल मन
लक्ष्मी सिंह
होली है ....
होली है ....
Kshma Urmila
कहने को आज है एक मई,
कहने को आज है एक मई,
Satish Srijan
बिखर गई INDIA की टीम बारी बारी ,
बिखर गई INDIA की टीम बारी बारी ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
भावनाओं की किसे पड़ी है
भावनाओं की किसे पड़ी है
Vaishaligoel
मैथिली पेटपोसुआ के गोंधियागिरी?
मैथिली पेटपोसुआ के गोंधियागिरी?
Dr. Kishan Karigar
काश तुम कभी जोर से गले लगा कर कहो
काश तुम कभी जोर से गले लगा कर कहो
शेखर सिंह
" छोटा सिक्का"
Dr Meenu Poonia
वफा करो हमसे,
वफा करो हमसे,
Dr. Man Mohan Krishna
तुम जहा भी हो,तुरंत चले आओ
तुम जहा भी हो,तुरंत चले आओ
Ram Krishan Rastogi
कृतिकार का परिचय/
कृतिकार का परिचय/"पं बृजेश कुमार नायक" का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
माँ
माँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दास्ताने-कुर्ता पैजामा [ व्यंग्य ]
दास्ताने-कुर्ता पैजामा [ व्यंग्य ]
कवि रमेशराज
विद्यादायिनी माँ
विद्यादायिनी माँ
Mamta Rani
********* आजादी की कीमत **********
********* आजादी की कीमत **********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
"वसन्त"
Dr. Kishan tandon kranti
दास्तान-ए- वेलेंटाइन
दास्तान-ए- वेलेंटाइन
Dr. Mahesh Kumawat
3135.*पूर्णिका*
3135.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सिलवटें आखों की कहती सो नहीं पाए हैं आप ।
सिलवटें आखों की कहती सो नहीं पाए हैं आप ।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
आहत हूॅ
आहत हूॅ
Dinesh Kumar Gangwar
ज़िंदगी तेरा हक़
ज़िंदगी तेरा हक़
Dr fauzia Naseem shad
इस दुनिया में कोई भी मजबूर नहीं होता बस अपने आदतों से बाज़ आ
इस दुनिया में कोई भी मजबूर नहीं होता बस अपने आदतों से बाज़ आ
Rj Anand Prajapati
खुशियों को समेटता इंसान
खुशियों को समेटता इंसान
Harminder Kaur
यह अपना रिश्ता कभी होगा नहीं
यह अपना रिश्ता कभी होगा नहीं
gurudeenverma198
मेरी भी कहानी कुछ अजीब है....!
मेरी भी कहानी कुछ अजीब है....!
singh kunwar sarvendra vikram
"Awakening by the Seashore"
Manisha Manjari
गरमी का वरदान है ,फल तरबूज महान (कुंडलिया)
गरमी का वरदान है ,फल तरबूज महान (कुंडलिया)
Ravi Prakash
शक्ति स्वरूपा कन्या
शक्ति स्वरूपा कन्या
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
Loading...