Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Nov 2023 · 1 min read

मत फैला तू हाथ अब उसके सामने

मत फैला तू हाथ अब, उसके सामने।
वह कर दे मदद तेरी, वह नहीं ऐसा।।
मत झुका तू सिर अब, उसके सामने।
उसको आ जाये रहम, वह नहीं ऐसा।।
मत फैला तू हाथ ——————–।।

उससे कितनी बार कहा, तुमने दुःखड़ा।
आया नजर हमेशा वह, उखड़ा उखड़ा।।
मत कर तू गुहार उससे, हाथ जोड़कर।
उसको आ जाये शर्म, वह नहीं ऐसा।।
मत फैला तू हाथ ———————।।

वह साथ किसी का कभी, दे नहीं सकता।
वह दोस्त किसी का कभी, हो नहीं सकता।।
मत उसको तू प्यार कर, अपना समझकर।
वह निभायेगा साथ तेरा, वह नहीं ऐसा।।
मत फैला तू हाथ ———————।।

पाप है उसके मन में, वहमी बहुत है वह।
भूखा है दौलत का, अहमी बहुत है वह।।
मत उसका गुलाम बन, उसे मानकर खुदा।
वह करेगा आबाद तुम्हें, वह नहीं ऐसा।।
मत फैला तू हाथ ——————-।।

शिक्षक एवं साहित्यकार
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
101 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बिहार दिवस  (22 मार्च 2023, 111 वां स्थापना दिवस)
बिहार दिवस  (22 मार्च 2023, 111 वां स्थापना दिवस)
रुपेश कुमार
दुनियाँ के दस्तूर बदल गए हैं
दुनियाँ के दस्तूर बदल गए हैं
हिमांशु Kulshrestha
आत्म संयम दृढ़ रखों, बीजक क्रीड़ा आधार में।
आत्म संयम दृढ़ रखों, बीजक क्रीड़ा आधार में।
Er.Navaneet R Shandily
प्रीत तुझसे एैसी जुड़ी कि
प्रीत तुझसे एैसी जुड़ी कि
Seema gupta,Alwar
प्रभु जी हम पर कृपा करो
प्रभु जी हम पर कृपा करो
Vishnu Prasad 'panchotiya'
💐कुछ तराने नए सुनाना कभी💐
💐कुछ तराने नए सुनाना कभी💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कैसे चला जाऊ तुम्हारे रास्ते से ऐ जिंदगी
कैसे चला जाऊ तुम्हारे रास्ते से ऐ जिंदगी
देवराज यादव
कब मैंने चाहा सजन
कब मैंने चाहा सजन
लक्ष्मी सिंह
*रखता है हर बार कृष्ण मनमोहन मेरी लाज (भक्ति गीत)*
*रखता है हर बार कृष्ण मनमोहन मेरी लाज (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
जो तेरे दिल पर लिखा है एक पल में बता सकती हूं ।
जो तेरे दिल पर लिखा है एक पल में बता सकती हूं ।
Phool gufran
..सुप्रभात
..सुप्रभात
आर.एस. 'प्रीतम'
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelam Sharma
2515.पूर्णिका
2515.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेरे अंशुल तुझ बिन.....
मेरे अंशुल तुझ बिन.....
Santosh Soni
बिन काया के हो गये ‘नानक’ आखिरकार
बिन काया के हो गये ‘नानक’ आखिरकार
कवि रमेशराज
"कलाकार"
Dr. Kishan tandon kranti
राम नाम सर्वश्रेष्ठ है,
राम नाम सर्वश्रेष्ठ है,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
बचपन अपना अपना
बचपन अपना अपना
Sanjay ' शून्य'
खुद के हाथ में पत्थर,दिल शीशे की दीवार है।
खुद के हाथ में पत्थर,दिल शीशे की दीवार है।
Priya princess panwar
आका के बूते
आका के बूते
*Author प्रणय प्रभात*
हमारे प्यार का आलम,
हमारे प्यार का आलम,
Satish Srijan
मेरा ब्लॉग अपडेट दिनांक 2 अक्टूबर 2023
मेरा ब्लॉग अपडेट दिनांक 2 अक्टूबर 2023
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सच्चाई की कीमत
सच्चाई की कीमत
Dr Parveen Thakur
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Life is too short to admire,
Life is too short to admire,
Sakshi Tripathi
व्यंग्य कविता-
व्यंग्य कविता- "गणतंत्र समारोह।" आनंद शर्मा
Anand Sharma
"जिंदगी"
Yogendra Chaturwedi
ये हवा ये मौसम ये रुत मस्तानी है
ये हवा ये मौसम ये रुत मस्तानी है
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
ड्यूटी
ड्यूटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Wait ( Intezaar)a precious moment of life:
Wait ( Intezaar)a precious moment of life:
पूर्वार्थ
Loading...