Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Mar 2017 · 1 min read

### मंजिल-मंजिल गाता चल ,,,,,, !

गीत —

“”नई राह के सब हैं राही,
चलना सबका है काम |
है रुकना मौत के सदृश,
रुकने का न लेना नाम ||””

मंज़िल-मंज़िल गाता चल,
हँसता और हँसाता चल |
कौन अपना, कौन पराया,
सबको गले लगाता चल ||

गए दौर की बात क्या करता,
नये दौर की बात तू कर |
ताल से ताल मिला कर झूम,
राग मिला कर गान तू कर ||
जग है अपना, सब है अपना,,,
खुशी के गीत सुनाता चल —–

कथक-ठुमरी भूल ही जा तू ,
दुनिया के संग नाच तू कर |
रॉक-एन-रॉल का गया ज़माना,
रैप-पॉप का साथ तू कर ||
दुनिया गोल है, बहुत मोल है,,,
अपना मोल बढ़ता चल ——

खुशी का नाम जीवन है,
खुशी-खुशी तू चलता जा |
वक़्त के साथ सब हैं बढ़ते,
वक़्त के साथ बहता जा ||
खुश रह और रहने दे,,,
खुशियाँ और लुटाता चल —–
( मौलिक )
******* दिनेश एल० “जैहिंद”
29. 12. 2016

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 290 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
पाषाण जज्बातों से मेरी, मोहब्बत जता रहे हो तुम।
पाषाण जज्बातों से मेरी, मोहब्बत जता रहे हो तुम।
Manisha Manjari
अधूरी बात है मगर कहना जरूरी है
अधूरी बात है मगर कहना जरूरी है
नूरफातिमा खातून नूरी
#दोहा-
#दोहा-
*प्रणय प्रभात*
शून्य से अनंत
शून्य से अनंत
The_dk_poetry
बदलते दौर में......
बदलते दौर में......
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
जाते हो.....❤️
जाते हो.....❤️
Srishty Bansal
ये मेरा हिंदुस्तान
ये मेरा हिंदुस्तान
Mamta Rani
गीत - मेरी सांसों में समा जा मेरे सपनों की ताबीर बनकर
गीत - मेरी सांसों में समा जा मेरे सपनों की ताबीर बनकर
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
* इंसान था रास्तों का मंजिल ने मुसाफिर ही बना डाला...!
* इंसान था रास्तों का मंजिल ने मुसाफिर ही बना डाला...!
Vicky Purohit
रमेशराज की तीन ग़ज़लें
रमेशराज की तीन ग़ज़लें
कवि रमेशराज
** मंजिलों की तरफ **
** मंजिलों की तरफ **
surenderpal vaidya
किये वादे सभी टूटे नज़र कैसे मिलाऊँ मैं
किये वादे सभी टूटे नज़र कैसे मिलाऊँ मैं
आर.एस. 'प्रीतम'
"मकसद"
Dr. Kishan tandon kranti
.....★.....
.....★.....
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
हाल- ए- दिल
हाल- ए- दिल
Dr fauzia Naseem shad
वाचाल सरपत
वाचाल सरपत
आनन्द मिश्र
ये अमलतास खुद में कुछ ख़ास!
ये अमलतास खुद में कुछ ख़ास!
Neelam Sharma
गज़ल सी रचना
गज़ल सी रचना
Kanchan Khanna
सतरंगी इंद्रधनुष
सतरंगी इंद्रधनुष
Neeraj Agarwal
अपने किरदार को किसी से कम आकना ठीक नहीं है .....
अपने किरदार को किसी से कम आकना ठीक नहीं है .....
कवि दीपक बवेजा
3227.*पूर्णिका*
3227.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
प्रकाशित हो मिल गया, स्वाधीनता के घाम से
प्रकाशित हो मिल गया, स्वाधीनता के घाम से
Pt. Brajesh Kumar Nayak
सीमजी प्रोडक्शंस की फिल्म ‘राजा सलहेस’ मैथिली सिनेमा की दूसरी सबसे सफल फिल्मों में से एक मानी जा रही है.
सीमजी प्रोडक्शंस की फिल्म ‘राजा सलहेस’ मैथिली सिनेमा की दूसरी सबसे सफल फिल्मों में से एक मानी जा रही है.
श्रीहर्ष आचार्य
सच का सच
सच का सच
डॉ० रोहित कौशिक
सुप्रभात
सुप्रभात
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
कुछ लिखा हू तुम्हारी यादो में
कुछ लिखा हू तुम्हारी यादो में
देवराज यादव
💐*सेहरा* 💐
💐*सेहरा* 💐
Ravi Prakash
मजे की बात है
मजे की बात है
Rohit yadav
कोई पूछे तो
कोई पूछे तो
Surinder blackpen
इंडिया दिल में बैठ चुका है दूर नहीं कर पाओगे।
इंडिया दिल में बैठ चुका है दूर नहीं कर पाओगे।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...