Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Jun 2023 · 1 min read

भ्रम नेता का

आपका ये मानना कि आपको सब कुछ पता है।
तो हो गई है लो आपसे एक भोली सी खता है।।

आप यदि यह मानते है आपने सब कुछ किया है।
तो आपने इक घेर में कैद खुद को कर लिया है।।

आपका यह मानना , करता भ्रमित पहचान को।
आप जिनके बीच हैं वो सब मानते भगवान को।।

हो गए भगवान खुद तो दीजिए सब कुछ सभी को।
है असंभव कर ये पाना, तो खींच लीजे पग अभी तो।।

बन के मानव सब में रहिए, सब की सुनिए और कहिए।
छोड़कर सबकुछ का भ्रम, सर्व दुखसुख साथ सहिए।।

सभी प्रकार के समाज सेवकों को समर्पित

Language: Hindi
1 Like · 222 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बिहार क्षेत्र के प्रगतिशील कवियों में विगलित दलित व आदिवासी चेतना
बिहार क्षेत्र के प्रगतिशील कवियों में विगलित दलित व आदिवासी चेतना
Dr MusafiR BaithA
मेरी किस्मत
मेरी किस्मत
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
कौन किसकी कहानी सुनाता है
कौन किसकी कहानी सुनाता है
Manoj Mahato
हैं जो कुछ स्मृतियां वो आपके दिल संग का
हैं जो कुछ स्मृतियां वो आपके दिल संग का
दीपक झा रुद्रा
धक धक धड़की धड़कनें,
धक धक धड़की धड़कनें,
sushil sarna
उम्र तो गुजर जाती है..... मगर साहेब
उम्र तो गुजर जाती है..... मगर साहेब
shabina. Naaz
करवा चौथ
करवा चौथ
इंजी. संजय श्रीवास्तव
*नेता बेचारा फॅंसा, कभी जेल है बेल (कुंडलिया)*
*नेता बेचारा फॅंसा, कभी जेल है बेल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
तीन मुक्तकों से संरचित रमेशराज की एक तेवरी
तीन मुक्तकों से संरचित रमेशराज की एक तेवरी
कवि रमेशराज
नवम दिवस सिद्धिधात्री,
नवम दिवस सिद्धिधात्री,
Neelam Sharma
*
*"पापा की लाडली"*
Shashi kala vyas
फितरत
फितरत
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
" भाषा क जटिलता "
DrLakshman Jha Parimal
क्या यही संसार होगा...
क्या यही संसार होगा...
डॉ.सीमा अग्रवाल
🙅सोचो तो सही🙅
🙅सोचो तो सही🙅
*प्रणय प्रभात*
हजारों मील चल करके मैं अपना घर पाया।
हजारों मील चल करके मैं अपना घर पाया।
Sanjay ' शून्य'
एक दिवाली ऐसी भी।
एक दिवाली ऐसी भी।
Manisha Manjari
शिव शंभू भोला भंडारी !
शिव शंभू भोला भंडारी !
Bodhisatva kastooriya
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
2626.पूर्णिका
2626.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
प्यारी प्यारी सी
प्यारी प्यारी सी
SHAMA PARVEEN
नकारात्मक लोगो से हमेशा दूर रहना चाहिए
नकारात्मक लोगो से हमेशा दूर रहना चाहिए
शेखर सिंह
अब तुझे रोने न दूँगा।
अब तुझे रोने न दूँगा।
Anil Mishra Prahari
जुगनू तेरी यादों की मैं रोशनी सी लाता हूं,
जुगनू तेरी यादों की मैं रोशनी सी लाता हूं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
दिल में बसाना नहीं चाहता
दिल में बसाना नहीं चाहता
Ramji Tiwari
मानसिक विकलांगता
मानसिक विकलांगता
Dr fauzia Naseem shad
जीवन एक मैराथन है ।
जीवन एक मैराथन है ।
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
गाय
गाय
Dr. Pradeep Kumar Sharma
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
जगदीश शर्मा सहज
dr arun kumar shastri
dr arun kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...