Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Feb 2024 · 1 min read

भीम के दीवाने हम,यह करके बतायेंगे

(शेर)- हम है भीम के दीवाने, ऐसा करके दिखायेंगे।
भीम की ध्वजा को हम, घर घर फहरायेंगे।।
—————————————————————-
भीम के दीवाने हम, यह करके बतायेंगे।
भीम की सरकार हम, एक दिन बनायेंगे।।
जय भीम, जय जय भीम,जय ,जय जय भीम।।(2)
भीम के दीवाने हम———————-।।

आदर्श हमारे तो, अम्बेडकर ही है।
भगवान हमारे तो, अम्बेडकर ही है।।
अम्बेडकर ने ही दिलाया है हमको सम्मान।
पूजनीय हमारे तो, अम्बेडकर ही है।।
भीम का ध्वज ही, हम लहरायेंगे।
भीम के दीवाने हम——————।।
जय भीम, जय जय भीम,जय ,जय जय भीम।।(2)

शिक्षा का हक सभी को, दिलाया भीम ने।
नारी की उन्नति के द्वार, खोले भीम ने।।
ऐसा ही संविधान तो, लिखा है भीम ने।
पिछड़ों दलितों को नवजीवन,दिया भीम ने।।
भीम की यह महिमा सबको, हम सुनायेंगे।
भीम के दीवाने हम——————।।
जय भीम, जय जय भीम,जय ,जय जय भीम।।(2)

नहीं डरेंगे अब हम, किसी के डराने से।
नहीं भटकेंगे हम, किसी के बहकाने से।।
नहीं सहेंगे जुल्म और अन्याय को, अब हम।
लड़ने को मजबूत है हम, जुल्मी जमाने से।।
जय भीम का नारा, घर घर हम गुंजायेंगे।
भीम के दीवाने हम——————।।
जय भीम, जय जय भीम,जय ,जय जय भीम।।(2)

शिक्षक एवं साहित्यकार
गुरुदीन वर्मा उर्फ़ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला-

Language: Hindi
Tag: गीत
71 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जो भक्त महादेव का,
जो भक्त महादेव का,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ज़माने की बुराई से खुद को बचाना बेहतर
ज़माने की बुराई से खुद को बचाना बेहतर
नूरफातिमा खातून नूरी
ना आप.. ना मैं...
ना आप.. ना मैं...
'अशांत' शेखर
जय भोलेनाथ ।
जय भोलेनाथ ।
Anil Mishra Prahari
एक टऽ खरहा एक टऽ मूस
एक टऽ खरहा एक टऽ मूस
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
मेरी साँसों में उतर कर सनम तुम से हम तक आओ।
मेरी साँसों में उतर कर सनम तुम से हम तक आओ।
Neelam Sharma
स्त्री श्रृंगार
स्त्री श्रृंगार
विजय कुमार अग्रवाल
पथ पर आगे
पथ पर आगे
surenderpal vaidya
आज के समय में शादियां सिर्फ एक दिखावा बन गई हैं। लोग शादी को
आज के समय में शादियां सिर्फ एक दिखावा बन गई हैं। लोग शादी को
पूर्वार्थ
अपनी क़ीमत
अपनी क़ीमत
Dr fauzia Naseem shad
जीवन मंथन
जीवन मंथन
Satya Prakash Sharma
पश्चाताप का खजाना
पश्चाताप का खजाना
अशोक कुमार ढोरिया
तूफान सी लहरें मेरे अंदर है बहुत
तूफान सी लहरें मेरे अंदर है बहुत
कवि दीपक बवेजा
इस जमाने जंग को,
इस जमाने जंग को,
Dr. Man Mohan Krishna
विश्व कविता दिवस
विश्व कविता दिवस
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
नारी तेरा रूप निराला
नारी तेरा रूप निराला
Anil chobisa
समंदर चाहते है किनारा कौन बनता है,
समंदर चाहते है किनारा कौन बनता है,
Vindhya Prakash Mishra
*छंद--भुजंग प्रयात
*छंद--भुजंग प्रयात
Poonam gupta
सौभाग्य मिले
सौभाग्य मिले
Pratibha Pandey
अध खिला कली तरुणाई  की गीत सुनाती है।
अध खिला कली तरुणाई की गीत सुनाती है।
Nanki Patre
అందమైన తెలుగు పుస్తకానికి ఆంగ్లము అనే చెదలు పట్టాయి.
అందమైన తెలుగు పుస్తకానికి ఆంగ్లము అనే చెదలు పట్టాయి.
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
“पहाड़ी झरना”
“पहाड़ी झरना”
Awadhesh Kumar Singh
दस्तावेज बोलते हैं (शोध-लेख)
दस्तावेज बोलते हैं (शोध-लेख)
Ravi Prakash
सुबह होने को है साहब - सोने का टाइम हो रहा है
सुबह होने को है साहब - सोने का टाइम हो रहा है
Atul "Krishn"
ढूंढ रहा है अध्यापक अपना वो अस्तित्व आजकल
ढूंढ रहा है अध्यापक अपना वो अस्तित्व आजकल
कृष्ण मलिक अम्बाला
😢साहित्यपीडिया😢
😢साहित्यपीडिया😢
*Author प्रणय प्रभात*
पंछी
पंछी
sushil sarna
*दुआओं का असर*
*दुआओं का असर*
Shashi kala vyas
💐प्रेम कौतुक-232💐
💐प्रेम कौतुक-232💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ये सफर काटे से नहीं काटता
ये सफर काटे से नहीं काटता
The_dk_poetry
Loading...