Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Mar 2024 · 1 min read

भारत माता के सच्चे सपूत

लेखक डॉ अरूण कुमार शास्त्री
भाषा हिंदी
विषय शहीद
विधा स्वच्छंद कविता
शीर्षक भारत माता के सच्चे सपूत

हम अग्निवीर हम शूरवीर महाराणा प्रताप के वंशज।

भारत माता के सच्चे सपूत हम भारत के हैं रक्षक ।

देश के सिपाही सीमाओं के प्रहरी हम से ही सुरक्षित धरा हम काल तुम्हारे हैं सुन हे अरि।

शांति काल हो या हो युद्ध की घड़ी , हम भारत की सेवा में समर्पित हर पल वारी।

संयुक्त राष्ट्र संघ के शांति दूत समग्र विश्व आपदा प्रबंधन में तत्पर।

जान की बाजी लगा हम मानव हित राष्ट्र हित को हृदय से समर्पित।

दुश्मन के काल मुसीबत मैं सहायक सिद्ध हो मित्र आपके ।

सीमाओं पर डटे सर्दी गर्मी तूफ़ान झंझावात झेलते, हम ही सतत सहायक।

एक ही नारा हमारा सर झुकाना सीखे नही । भारत मां के रक्षक ।

53 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR ARUN KUMAR SHASTRI
View all
You may also like:
Dark Web and it's Potential Threats
Dark Web and it's Potential Threats
Shyam Sundar Subramanian
शक्कर में ही घोलिए,
शक्कर में ही घोलिए,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
संवेदना
संवेदना
नेताम आर सी
वोट का लालच
वोट का लालच
Raju Gajbhiye
ये भावनाओं का भंवर है डुबो देंगी
ये भावनाओं का भंवर है डुबो देंगी
ruby kumari
हंसते हुए तेरे चेहरे ये बहुत ही खूबसूरत और अच्छे लगते है।
हंसते हुए तेरे चेहरे ये बहुत ही खूबसूरत और अच्छे लगते है।
Rj Anand Prajapati
तेज़
तेज़
Sanjay ' शून्य'
*Colors Of Experience*
*Colors Of Experience*
Poonam Matia
बन के आंसू
बन के आंसू
Dr fauzia Naseem shad
हमारी मां हमारी शक्ति ( मातृ दिवस पर विशेष)
हमारी मां हमारी शक्ति ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
नशा त्याग दो
नशा त्याग दो
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
जब गेंद बोलती है, धरती हिलती है, मोहम्मद शमी का जादू, बयां क
जब गेंद बोलती है, धरती हिलती है, मोहम्मद शमी का जादू, बयां क
Sahil Ahmad
२९०८/२०२३
२९०८/२०२३
कार्तिक नितिन शर्मा
◆आज की बात◆
◆आज की बात◆
*प्रणय प्रभात*
काव्य की आत्मा और सात्विक बुद्धि +रमेशराज
काव्य की आत्मा और सात्विक बुद्धि +रमेशराज
कवि रमेशराज
जलियांवाला बाग
जलियांवाला बाग
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*पुस्तक*
*पुस्तक*
Dr. Priya Gupta
हम किसी सरकार में नहीं हैं।
हम किसी सरकार में नहीं हैं।
Ranjeet kumar patre
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
ফুলডুংরি পাহাড় ভ্রমণ
ফুলডুংরি পাহাড় ভ্রমণ
Arghyadeep Chakraborty
कौन हूं मैं?
कौन हूं मैं?
Rachana
बहुत गहरी थी रात
बहुत गहरी थी रात
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
2553.पूर्णिका
2553.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
एक टऽ खरहा एक टऽ मूस
एक टऽ खरहा एक टऽ मूस
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
"सावधान"
Dr. Kishan tandon kranti
Miss you Abbu,,,,,,
Miss you Abbu,,,,,,
Neelofar Khan
जो बीत गयी सो बीत गई जीवन मे एक सितारा था
जो बीत गयी सो बीत गई जीवन मे एक सितारा था
Rituraj shivem verma
*शीर्षक - प्रेम ..एक सोच*
*शीर्षक - प्रेम ..एक सोच*
Neeraj Agarwal
झूठे सपने
झूठे सपने
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
लोग कहते हैं कि प्यार अँधा होता है।
लोग कहते हैं कि प्यार अँधा होता है।
आनंद प्रवीण
Loading...