Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Nov 2022 · 1 min read

भारत का संविधान

भारत का संविधान
जितना ही बेहतरीन है
उसे लागू करने की
ज़िम्मेदारी
उतने ही बदतरीन
लोगों के हाथ में रही है।
#casteist_collegium #भ्रष्ट
#हकमारी #सामंतवाद #अफसर
#patriarchy #Feudalism
#police #मनुवादी #EVM
#Constitution‌ #जातिवादी
#media #SupremeCourt
#CBI #ElectionCommission

Language: Hindi
224 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
* सड़ जी नेता हुए *
* सड़ जी नेता हुए *
Mukta Rashmi
सावनी श्यामल घटाएं
सावनी श्यामल घटाएं
surenderpal vaidya
जीवन एक यथार्थ
जीवन एक यथार्थ
Shyam Sundar Subramanian
उम्रें गुज़र गयी है।
उम्रें गुज़र गयी है।
Taj Mohammad
गजब है सादगी उनकी
गजब है सादगी उनकी
sushil sarna
कभी कभी जिंदगी
कभी कभी जिंदगी
Mamta Rani
माइल है दर्दे-ज़ीस्त,मिरे जिस्मो-जाँ के बीच
माइल है दर्दे-ज़ीस्त,मिरे जिस्मो-जाँ के बीच
Sarfaraz Ahmed Aasee
"जीवन चक्र"
Dr. Kishan tandon kranti
रंगीला संवरिया
रंगीला संवरिया
Arvina
आदित्य(सूरज)!
आदित्य(सूरज)!
Abhinay Krishna Prajapati-.-(kavyash)
दूरी जरूरी
दूरी जरूरी
Sanjay ' शून्य'
हमारे प्यारे दादा दादी
हमारे प्यारे दादा दादी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
"Let us harness the power of unity, innovation, and compassi
Rahul Singh
*कैसे भूले देश यह, तानाशाही-काल (कुंडलिया)*
*कैसे भूले देश यह, तानाशाही-काल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"बिलखती मातृभाषा "
DrLakshman Jha Parimal
2885.*पूर्णिका*
2885.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
भारत के राम
भारत के राम
करन ''केसरा''
जीवन पुष्प की बगिया
जीवन पुष्प की बगिया
Buddha Prakash
बसंती बहार
बसंती बहार
इंजी. संजय श्रीवास्तव
*जीवन में हँसते-हँसते चले गए*
*जीवन में हँसते-हँसते चले गए*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
अपने जीवन के प्रति आप जैसी धारणा रखते हैं,बदले में आपका जीवन
अपने जीवन के प्रति आप जैसी धारणा रखते हैं,बदले में आपका जीवन
Paras Nath Jha
बल से दुश्मन को मिटाने
बल से दुश्मन को मिटाने
Anil Mishra Prahari
आप वही करें जिससे आपको प्रसन्नता मिलती है।
आप वही करें जिससे आपको प्रसन्नता मिलती है।
लक्ष्मी सिंह
आपकी सोच
आपकी सोच
Dr fauzia Naseem shad
ज़िद से भरी हर मुसीबत का सामना किया है,
ज़िद से भरी हर मुसीबत का सामना किया है,
Kanchan Alok Malu
*देश भक्ति देश प्रेम*
*देश भक्ति देश प्रेम*
Harminder Kaur
लीकछोड़ ग़ज़ल / मुसाफ़िर बैठा
लीकछोड़ ग़ज़ल / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
मेरे पिताजी
मेरे पिताजी
Santosh kumar Miri
बहुत टूट के बरसा है,
बहुत टूट के बरसा है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...