Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

बुआ आई

बुआ आई
—————————–
देखो नन्ही
बुआ आई
बुआ आई
हमारे लिये भी
कुछ लाई
कुछ खट्टा
कुछ मीठा लाई

देखो देखो भैया
कौन आया है?
बुआ आई है
बुआ आई है
देखो बहना
क्या लाई है?

खोलो थैला
ऊपर नीचे
पलटो थैला
देखो बहना
लड्डु लाई
बर्फ़ी लाई
थोड़ी थोड़ी
खा लेते है
थोड़ी सी ही
खा लेते हैं
ये बात तुम
किसी को न कहना

इस झोले
को खोलो
देखो भैया
ढेर सारे
भरे खिलौने
सूंड उठाये
हाथी राजा
भालू मोटे
बड़े सलोने

———–
राजेश’ललित

7 Likes · 4 Comments · 205 Views
You may also like:
सगुण
DR ARUN KUMAR SHASTRI
न और ना प्रयोग और अंतर
Subhash Singhai
पढ़ाई-लिखाई एक बोझ
AMRESH KUMAR VERMA
ग़ज़ल -
Mahendra Narayan
पापा मेरे पापा ॥
सुनीता महेन्द्रू
✍️थोड़ा थक गया हूँ...✍️
"अशांत" शेखर
*श्री राजेंद्र कुमार शर्मा का निधन : एक युग का...
Ravi Prakash
जहां चाह वहां राह
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️व्हाट्सअप यूनिवर्सिटी✍️
"अशांत" शेखर
पिता हैं नाथ.....
Dr. Alpa H. Amin
बिछड़न [भाग ३]
Anamika Singh
जाको राखे साईयाँ मार सके न कोय
Anamika Singh
✍️मुमकिन था..!✍️
"अशांत" शेखर
अपना भारत देश महान है।
Taj Mohammad
बूंद बूंद में जीवन है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मदिरा और मैं
Sidhant Sharma
प्रेम
श्याम सिंह बिष्ट
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्यार में तुम्हें ईश्वर बना लूँ, वह मैं नहीं हूँ
Anamika Singh
बुलबुला
मनोज शर्मा
शांत वातावरण
AMRESH KUMAR VERMA
जबसे मुहब्बतों के तरफ़दार......
अश्क चिरैयाकोटी
"मुश्किल वक़्त और दोस्त"
Lohit Tamta
✍️झूठ और सच✍️
"अशांत" शेखर
✍️✍️पुन्हा..!✍️✍️
"अशांत" शेखर
जीने की चाहत है सीने में
Krishan Singh
The Send-Off Moments
Manisha Manjari
ऐतबार नहीं करना!
Mahesh Ojha
नागफनी बो रहे लोग
शेख़ जाफ़र खान
अगर तुम खुश हो।
Taj Mohammad
Loading...