Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Dec 2023 · 1 min read

बुंदेली दोहा -गुनताडौ

#बुंदेली_दोहा विषय – #गुनताड़ौ (उधेड़बुन )

गुनताड़ौ सब गवँ निपुर , #राना दैखत हाल |
तनबै बारन की दिखत , अब लूली है चाल ||

गुनताड़ौ जाँदा करै , बौइ हौत है फेल |
बैठौ मुड़ी खुजात रत , #राना छूटत रेल ||

गुनताड़ौ अच्छौ करौ , पर ना करियौ देर |
नाँतर सिंघा छौड़ कै , #राना मिलै बटेर ||

गुनताड़ौ भी सब करत , #राना जानत बात |
पर इतनी भी ना करौ , जितनी नइँ औकात ||

दौइ पलीतन देत है , #राना जौ भी तेल |
गुनताड़ौ खट्टौ रयै , बिगरत सबरौ खेल ||

एक #हास्य_दोहा –

धना कात #राना सुनौ , गुनताड़ौ सब छौड़ |
आटौ चक्की पै धरौ , लै आऔ तुम दौड़ ||
***दिनांक 9-12-1 2023
✍️ #राजीव_नामदेव “#राना_लिधौरी” #टीकमगढ़
संपादक “#आकांक्षा” पत्रिका
संपादक- ‘#अनुश्रुति’ त्रैमासिक बुंदेली ई पत्रिका
जिलाध्यक्ष म.प्र. #लेखक_संघ टीकमगढ़
अध्यक्ष #वनमाली सृजन केन्द्र टीकमगढ़
नई चर्च के पीछे, शिवनगर कालोनी,
टीकमगढ़ (मप्र)-472001
मोबाइल- 9893520965
Email – ranalidhori@gmail.com

1 Like · 145 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हाथ की उंगली😭
हाथ की उंगली😭
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
कैसे बचेगी मानवता
कैसे बचेगी मानवता
Dr. Man Mohan Krishna
देह से देह का मिलन दो को एक नहीं बनाता है
देह से देह का मिलन दो को एक नहीं बनाता है
Pramila sultan
सुनबऽ त हँसबऽ तू बहुते इयार
सुनबऽ त हँसबऽ तू बहुते इयार
आकाश महेशपुरी
इश्क में  हम वफ़ा हैं बताए हो तुम।
इश्क में हम वफ़ा हैं बताए हो तुम।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
तुम जो कहते हो प्यार लिखूं मैं,
तुम जो कहते हो प्यार लिखूं मैं,
Manoj Mahato
रोगों से है यदि  मानव तुमको बचना।
रोगों से है यदि मानव तुमको बचना।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
मंगलमय हो नववर्ष सखे आ रहे अवध में रघुराई।
मंगलमय हो नववर्ष सखे आ रहे अवध में रघुराई।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
#आलेख
#आलेख
*Author प्रणय प्रभात*
"हर कोई अपने होते नही"
Yogendra Chaturwedi
मुस्कराओ तो फूलों की तरह
मुस्कराओ तो फूलों की तरह
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
Sukun-ye jung chal rhi hai,
Sukun-ye jung chal rhi hai,
Sakshi Tripathi
जग मग दीप  जले अगल-बगल में आई आज दिवाली
जग मग दीप जले अगल-बगल में आई आज दिवाली
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
आँखों में उसके बहते हुए धारे हैं,
आँखों में उसके बहते हुए धारे हैं,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
औलाद
औलाद
Surinder blackpen
बस्ता
बस्ता
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
"आत्ममुग्धता"
Dr. Kishan tandon kranti
बेटियों ने
बेटियों ने
ruby kumari
अरबपतियों की सूची बेलगाम
अरबपतियों की सूची बेलगाम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
घट -घट में बसे राम
घट -घट में बसे राम
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
दर जो आली-मकाम होता है
दर जो आली-मकाम होता है
Anis Shah
यह तो हम है जो कि, तारीफ तुम्हारी करते हैं
यह तो हम है जो कि, तारीफ तुम्हारी करते हैं
gurudeenverma198
*जब से मुझे पता चला है कि*
*जब से मुझे पता चला है कि*
Manoj Kushwaha PS
कतार  (कुंडलिया)
कतार (कुंडलिया)
Ravi Prakash
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
3144.*पूर्णिका*
3144.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आस्था और चुनौती
आस्था और चुनौती
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
"लाभ का लोभ"
पंकज कुमार कर्ण
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
स्मृति शेष अटल
स्मृति शेष अटल
कार्तिक नितिन शर्मा
Loading...