Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Nov 2023 · 1 min read

बारिश में नहा कर

रात बारिश से नहा कर घर को जाती रही
शेष बूंदे बारिश की दिन को भिगाती रही
ठहर खुदमे सिमट नहाती रोशनी में जी भर
गूँजते आसमाँ की आवाजें दिल को भरमाती रही

टपकती पेड़ से बुंदे हवा के तेज झोकों से
टर्र टर्र बोलते मेंढक चर्र चर्र झिंगुरों की आवाजे
कभी कलरव है मोरो का कंही है घोर सनन्नाटे
जो पानी को तरसती थी वो नदिया उफनाती रही

सूखती टहनियों में हैं बचे जो चंद पत्ते रूखे से
बनू फिर कोपल ही डाली की रखी उम्मीद बूंदों से
गिरे जो साख से कबके लगे है सिसकियां भरने
खुद खाक में मिलेने से बढ़ा दू जान पेड़ो की सही

रात बारिश में नहा कर

डॉ एल के मिश्रा

Language: Hindi
1 Like · 147 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*खड़ी हूँ अभी उसी की गली*
*खड़ी हूँ अभी उसी की गली*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
फल और मेवे
फल और मेवे
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
तुझसे लिपटी बेड़ियां
तुझसे लिपटी बेड़ियां
Sonam Puneet Dubey
हर हाल में खुश रहने का सलीका तो सीखो ,  प्यार की बौछार से उज
हर हाल में खुश रहने का सलीका तो सीखो , प्यार की बौछार से उज
DrLakshman Jha Parimal
@The electant mother
@The electant mother
Ms.Ankit Halke jha
सब कुछ पा लेने की इच्छा ही तृष्णा है और कृपापात्र प्राणी ईश्
सब कुछ पा लेने की इच्छा ही तृष्णा है और कृपापात्र प्राणी ईश्
Sanjay ' शून्य'
क्या रखा है???
क्या रखा है???
Sûrëkhâ
*लस्सी में जो है मजा, लस्सी में जो बात (कुंडलिया)*
*लस्सी में जो है मजा, लस्सी में जो बात (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
2856.*पूर्णिका*
2856.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
असली जीत
असली जीत
पूर्वार्थ
माँ जन्मदात्री , तो पिता पालन हर है
माँ जन्मदात्री , तो पिता पालन हर है
Neeraj Mishra " नीर "
मेरा न कृष्ण है न मेरा कोई राम है
मेरा न कृष्ण है न मेरा कोई राम है
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
बेईमानी का फल
बेईमानी का फल
Mangilal 713
■ हुडक्चुल्लू ..
■ हुडक्चुल्लू ..
*प्रणय प्रभात*
मुझे गर्व है अलीगढ़ पर #रमेशराज
मुझे गर्व है अलीगढ़ पर #रमेशराज
कवि रमेशराज
"पड़ाव"
Dr. Kishan tandon kranti
पुनर्जन्म का सत्याधार
पुनर्जन्म का सत्याधार
Shyam Sundar Subramanian
।। आरती श्री सत्यनारायण जी की।।
।। आरती श्री सत्यनारायण जी की।।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
शाश्वत, सत्य, सनातन राम
शाश्वत, सत्य, सनातन राम
श्रीकृष्ण शुक्ल
विकटता और मित्रता
विकटता और मित्रता
Astuti Kumari
ञ'पर क्या लिखूं
ञ'पर क्या लिखूं
Satish Srijan
दो जून की रोटी
दो जून की रोटी
Ram Krishan Rastogi
बाकी है...!!
बाकी है...!!
Srishty Bansal
चिला रोटी
चिला रोटी
Lakhan Yadav
A last warning
A last warning
Bindesh kumar jha
पिता का बेटी को पत्र
पिता का बेटी को पत्र
प्रीतम श्रावस्तवी
तुलसी युग 'मानस' बना,
तुलसी युग 'मानस' बना,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सच तो रोशनी का आना हैं
सच तो रोशनी का आना हैं
Neeraj Agarwal
Dr Arun Kumar shastri  एक अबोध बालक 🩷😰
Dr Arun Kumar shastri एक अबोध बालक 🩷😰
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दिल टूटने के बाद
दिल टूटने के बाद
Surinder blackpen
Loading...