Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jun 2023 · 1 min read

बाबा महादेव को पूरे अन्तःकरण से समर्पित —

बाबा महादेव को पूरे अन्तःकरण से समर्पित —

लक, भाग्य, नियति,किस्मत और क्या नहीं
क्या हुआ है बिन कर्म के बदौलत कहाँ कभी
तुम इनमें से जो मानते हो… सारा है सच मगर
गर बाबा की हाँ नहीं तो कुछ हासिल हुआ नहीं
-सिद्धार्थ गोरखपुरी

1 Like · 636 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बारिश की मस्ती
बारिश की मस्ती
Shaily
रास्ते फूँक -फूँककर चलता  है
रास्ते फूँक -फूँककर चलता है
Anil Mishra Prahari
यह रूठना मनाना, मनाकर फिर रूठ जाना ,
यह रूठना मनाना, मनाकर फिर रूठ जाना ,
कवि दीपक बवेजा
तू ज़रा धीरे आना
तू ज़रा धीरे आना
मनोज कुमार
कह न पाई सारी रात सोचती रही
कह न पाई सारी रात सोचती रही
Ram Krishan Rastogi
कम से कम दो दर्जन से ज़्यादा
कम से कम दो दर्जन से ज़्यादा
*Author प्रणय प्रभात*
शीर्षक:इक नज़र का सवाल है।
शीर्षक:इक नज़र का सवाल है।
Lekh Raj Chauhan
जबसे तुमसे लौ लगी, आए जगत न रास।
जबसे तुमसे लौ लगी, आए जगत न रास।
डॉ.सीमा अग्रवाल
फिर पर्दा क्यूँ है?
फिर पर्दा क्यूँ है?
Pratibha Pandey
 मैं गोलोक का वासी कृष्ण
 मैं गोलोक का वासी कृष्ण
Pooja Singh
*सौ वर्षों तक जीना अपना, अच्छा तब कहलाएगा (हिंदी गजल)*
*सौ वर्षों तक जीना अपना, अच्छा तब कहलाएगा (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
पूजा नहीं, सम्मान दें!
पूजा नहीं, सम्मान दें!
Shekhar Chandra Mitra
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
कैसा गीत लिखूं
कैसा गीत लिखूं
नवीन जोशी 'नवल'
मेरी सोच (गजल )
मेरी सोच (गजल )
umesh mehra
Forget and Forgive Solve Many Problems
Forget and Forgive Solve Many Problems
PRATIBHA ARYA (प्रतिभा आर्य )
सुनो मोहतरमा..!!
सुनो मोहतरमा..!!
Surya Barman
भले ही शरीर में खून न हो पर जुनून जरूर होना चाहिए।
भले ही शरीर में खून न हो पर जुनून जरूर होना चाहिए।
Rj Anand Prajapati
प्यार और नफ़रत
प्यार और नफ़रत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बुंदेली दोहा गरे गौ (भाग-2)
बुंदेली दोहा गरे गौ (भाग-2)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
2432.पूर्णिका
2432.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हर ख्याल से तुम खुबसूरत हो
हर ख्याल से तुम खुबसूरत हो
Swami Ganganiya
सच तो हम तुम बने हैं
सच तो हम तुम बने हैं
Neeraj Agarwal
चाँद और इन्सान
चाँद और इन्सान
Kanchan Khanna
अभिव्यक्ति के माध्यम - भाग 02 Desert Fellow Rakesh Yadav
अभिव्यक्ति के माध्यम - भाग 02 Desert Fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
कोई भी
कोई भी
Dr fauzia Naseem shad
💐प्रेम कौतुक-444💐
💐प्रेम कौतुक-444💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
खुश है हम आज क्यों
खुश है हम आज क्यों
gurudeenverma198
*पछतावा*
*पछतावा*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
If your heart is
If your heart is
Vandana maurya
Loading...