Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 28, 2022 · 1 min read

बहुत कुछ सिखा

बहुत कुछ सिखा
तुझसे जिन्दगी में मैंने।
बहुत मुश्किल था वो मिलना
जो पाके तुझे पाया मैंने।
समझना मुश्किल था
पर समझाया खुद को मैंने।
खुशियों के सागर में तैर रहा था मैं
खुद को प्रेम सागर में डूबाया मैंने।
तेरे लबों से जो बात निकली है
सच्च ही पाया उसे मैंने।
दिल है बेताब न जाने क्यो इतना
हर जगह आज तुझे ही पाया मैंने।
तेरे खुश मिजाज के अहसास ने डूबाया मुझे
अब जो डूबने में मजा आया है
वो ना कही और पाया मैंने।
**********************
Swami ganganiya
Mob no.6396066092

122 Views
You may also like:
*शंकर तुम्हें प्रणाम है (भक्ति-गीत)*
Ravi Prakash
मैं कही रो ना दूँ
Swami Ganganiya
ठिकरा विपक्ष पर फोडा जायेगा
Mahender Singh Hans
नवजात बहू (लघुकथा)
दुष्यन्त 'बाबा'
हवा का हुक़्म / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
फिर से खो गया है।
Taj Mohammad
मेरा भारत मेरा तिरंगा
Ram Krishan Rastogi
✍️"हैप्पी बर्थ डे पापा"✍️
'अशांत' शेखर
सरकारी नौकरी वाली स्नेहलता
Dr Meenu Poonia
✍️कुछ राज थे✍️
'अशांत' शेखर
ए बदरी
Dhirendra Panchal
पिता का प्यार
pradeep nagarwal
मोहब्बत।
Taj Mohammad
वो एक तुम
Saraswati Bajpai
" जय हो "
DrLakshman Jha Parimal
एक प्यार ऐसा भी /लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
सुना है।
Taj Mohammad
कुछ ख़ास करते है।
Taj Mohammad
मैं हूँ किसान।
Anamika Singh
प्रोफेसर ईश्वर शरण सिंहल का साहित्यिक योगदान (लेख)
Ravi Prakash
💐ये मेरी आशिकी💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
यह सिर्फ़ वर्दी नहीं, मेरी वो दौलत है जो मैंने...
Lohit Tamta
शाइ'राना है तबीयत
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
तजर्रुद (विरक्ति)
Shyam Sundar Subramanian
बचपन
Anamika Singh
चार
Vikas Sharma'Shivaaya'
वैदेही से राम मिले
Dr. Sunita Singh
अना दिलों में सभी के....
अश्क चिरैयाकोटी
पुस्तक समीक्षा- बुंदेलखंड के आधुनिक युग
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
परमात्मतत्वस्य प्राप्तया: सर्वे अधिकारी
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...